उन्नत प्रशिक्षण एवं अध्ययन अकैडमी व आइडिया लैब से प्रशिक्षण व अध्ययन को नई दिशाएं मिलेंगी

दिल्ली।हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की उपस्थिति में दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय,मुरथल के कुलपति प्रौफेसर डाॅ राजेंद्र अनायत व अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् के चेयरमैन प्रोफैसर अनिल डी  सहस्त्रबद्धे ने नई दिल्ली में हरियाणा भवन में एक समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया। 

         समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरण प्रक्रिया के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आशा व्यक्त की कि स्थापित होने वाली इस उन्नत प्रशिक्षण एवं अध्ययन अकैडमी व आइडिया लैब से प्रशिक्षण व अध्ययन को नई दिशाएं मिलेंगी। वर्तमान समय में प्रयोग के महत्व व उपयोगिता को इंगित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रयोगशालाओं से नवाचार उत्पन्न होता  है। खोज एवं नवीनता वर्तमान समय में जीवन का आधार हैं। मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की कि इस अकैडमी व लैब की स्थापना से प्रशिक्षण,खोज एवं नवीनता के क्षेत्र में  नए प्रतिमान स्थापित हो सकेंगे। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् के चेयरमैन प्रोफैसर अनिल डी  सहस्त्रबद्धे ने अपने संबोधन में अटल अकैडमी योजना के उद्देश्य व विस्तार के संदर्भ में बताया।

      उल्लेखनीय है कि दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय,मुरथल में स्थापित किए जाने वाली उन्नत प्रशिक्षण एवं अध्ययन अकादमी को स्थापित करने के लिए प्रथम चरण में 30 करोड रूपये व द्वितीय चरण में 20 करोड़ रूपये खर्च किए जाएंगे। यह 50 करोड़ रूपये की राशि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् द्वारा वहन की जाएगी।उन्नत प्रशिक्षण एवं अध्ययनअकादमी में शिक्षकों को प्रशिक्षण प्रदान किए जाएंगे। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् द्वारा प्रशिक्षण गतिविधियों  के लिए वित्त भी उपलब्ध करवाया जाएगा। आईडिया लैब की सेवाएं विद्यार्थियों के लिए 24 घंटे उपलब्ध हो सकेंगी।

          तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता में वृद्धि के लिए अटल अकैडमी योजना पर  विशेष कार्य किया जा रहा है। प्रारंभ में स्थापित अकैडमियों  से प्राप्त बेहतर परिणामों के दृष्टिगत और अकैडमियों  को विस्तार दिया जा रहा है। अटल अकैडमी योजना के माध्यम से प्रमुख रूप से रोबॉटिक्‍स, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ब्लॉक चेन, क्वांटम कंप्यूटिंग, साइबर सिक्युरिटी, डाटा साइंस, ऑग्मेंट रियेलिटी और थ्री डी प्रिंटिंग और डिजाइन के क्षेत्र में बढ़ावा दिया जाएगा।

                 समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरण प्रक्रिया के दौरान राई विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री मोहन लाल बडौली भी मौजूद रहे। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् के उप चेयरमैन प्रोफैसर एम पी पूनिया व सदस्य सचिव प्रोफैसर राजीव कुमार ने अटल अकैडमी योजना के प्रारूप व उदेश्यों के संबंध में विस्तारपूर्वक  बताया। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् के निदेशक डाॅ रवींद्र सोनी भी मौजूद रहे।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *