विश्व ब्राह्मण संगठन द्वारा राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर ‘यूथ विंग’ का गठन

सी एम पपनैं

नई दिल्ली। विश्व ब्राह्मण फैडरेशन राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित के सी पांडे की अध्यक्षता मे, 14 अप्रेल 2022 को, उत्तराखंड सदन, चाणक्यपुरी नई दिल्ली मे, आयोजित बैठक में, फैडरेशन के राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर दो वर्ष (2022-2024) के कार्यकाल के लिए, ‘यूथ विंग’ का गठन किया गया।

देश के विभिन्न राज्यो हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, छत्तीसगढ, कर्नाटक, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, दिल्ली, उत्तराखंड, बिहार, पंजाब, तैलंगाना, हिमाचल प्रदेश इत्यादि से, आयोजित बैठक मे पहुचे, करीब सात दर्जन युवाओ को, गठित ‘यूथ विंग’ मे, विभिन्न पदों पर नियुक्ति पत्र प्रदान कर, जिम्मेवारिया सौपी गई।

विश्व ब्राह्मण फैडरेशन बोर्ड द्वारा, फैडरेशन चेयरमैन पंडित मांगेराम शर्मा (बाबू जी) के सानिध्य मे पास प्रस्ताव के आधार पर, संगठन को राष्ट्रीय फलक पर, सन्मार्ग की दिशा व मजबूती प्रदान करने के लिए ‘यूथ विंग’ का गठन किया गया है।

उत्तर प्रदेश के पंडित अंबर स्वामी को ‘यूथ विंग’ का राष्ट्रीय अध्यक्ष व दिल्ली के पंडित मनोज गौतम को राष्ट्रीय महासचिव (संगठन), पंडित मनीष शर्मा (हरियाणा), पंडित कुमार दक्षीस (जम्मू-कश्मीर), पंडित पीयूष कुमार मिश्रा (छत्तीसगढ), पंडित अनुपम शर्मा (कर्नाटक), पंडित बोधिस खुशाल (राजस्थान), पंडित मनीष शर्मा (हरियाणा), पंडित राजीव शर्मा (उ.प्र), पंडित मानश चक्रवर्ती (प.बंगाल) को, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्त किया गया है।

विभिन्न राज्यो से 17 उपाध्यक्ष, 32 सचिव, 26 राष्ट्रीय सदस्य भी इस अवसर पर नियुक्त किये गए हैं। राष्ट्रीय कार्यालय सचिव पद पर उत्तर प्रदेश के प.विपुल समाजदार को नियुक्त किया गया है। उत्तराखंड की प.रेनू उपाध्याय व प.विनोद पांडे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा प.भवेश कांडपाल व प.राकेश पंत को राष्ट्रीय सचिव नियुक्त किया गया है।

विश्व ब्राह्मण फैडरेशन ‘यूथ विंग’ गठन के इस अवसर पर, फैडरेशन से राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय फलक पर जुडे पदाधिकारियों, पं. कैलाश पति शर्मा, पं. केन्द्र प्रकाश शर्मा, पं. बलबीर शर्मा, पं. संजय शर्मा, पं. प्रहलाद शर्मा, पं.राजेश कौशिक, पं. विनोद पांडे, पं. मनोज गौतम, पं. दुष्यंत गौतम, पं. गिरीश सारस्वत, पं. सतीश गौतम, पं.आर एस गोस्वामी, पं.अंबर स्वामी इत्यादि द्वारा संगठन की मजबूती व ब्राह्मणों के उत्थान व सरोकारो पर बेबाक, सारगर्भित राय रखी गई। राजनैतिक, सामाजिक व व्यवसायिक पटल पर, ब्राह्मण समाज के उत्थान में आ रही गिरावट व अनेक स्तरों पर ब्राह्मणों को नकारे जाने के उदाहरण दिए गए। अवगत कराया गया, इन सब गतिविधियों के प्रभाव से, ब्राह्मणों मे उत्साह व जोश का अभाव देखा जा रहा है। संगठन के उद्देश्यो, क्रियाकलापो व भविष्य की योजनाओं को बढ़-चढ़ कर आगे बढ़ाने पर भी, वक्ताओ द्वारा राय प्रकट की गई।

वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, ब्राह्मण होने पर उन्हे गर्व है। ब्राह्मण सबको साथ लेकर चलता है। पूज्यनीय कहलाया जाता है। सतयुग, त्रेता, द्वापर मे ब्राह्मण को सम्मान मिला, वह कभी अत्याचारी नही रहा। वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, सबको अपनी कम्युनिटी को समय देना होगा। वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, ब्राह्मणों मे बहुत प्रतिभा है, जिसे सम्मान देकर, सही निर्णय लेकर, आगे बढ़ाना होगा। वक्ताओ द्वारा, देश की संसद व विधानसभाओ से आरक्षण को समाप्त करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय मे लंबित रिट याचिकाओ के बारे में अवगत कराया गया, न्याय मिलने मे देरी होने पर, क्षोभ व्यक्त किया गया। पंचायत से लेकर संसद तक देश के सभी ब्राह्मणों को एकजुट होकर अपनी शक्ति प्रदर्शन का आहवान किया गया। देश के गरीब ब्राह्मणों की सामाजिक सुरक्षा के लिए, दो करोड़ रुपयो का कोष बनाने का आहवान, फैडरेशन पदाधिकारियों से अपने बलबूते करने को कहा गया, जिसे, सहर्ष स्वीकार किया गया।

वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, ब्राह्मणों को अपने ब्राह्मण होने पर गर्व होना चाहिए। आने वाली पीढ़ी को ब्राह्मणों के महत्व व प्रत्येक युग मे ब्राह्मणों के ज्ञान व शिक्षा के बल समाज के विभिन्न वर्गो को मिली सफलता, समरसता व सिद्धि को बताना परमावश्यक है। व्यक्त किया गया, किसी भी व्यवसाय में, विद्या ज्ञान सबसे बड़ा है, जो ब्राह्मणों के पास है। धर्म, संस्कृति, कला, साहित्य, विज्ञान एव प्रोद्योगिकी, राजनीति तथा शिक्षा के क्षेत्र मे, ब्राह्मणों का अमिट योगदान रहा है। बदलते परिवेश मे, कैसे ब्राह्मण समाज अपने सांस्कृतिक मूल्यों मे बदलाव करे, यह चुनौती है। ब्राह्मण मतलब, ज्ञान देने वाला। इस परिपाठी को जिंदा रखना होगा। ज्ञान के आधार पर, अपने आप को, स्थापित रखा जा सकता है। वक्ताओ द्वारा फैडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे द्वारा संगठन व ब्राह्मणों के लिए किए जा रहे कार्यो की प्रशंसा की गई, गठित यूथ विंग को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया गया।

विश्व ब्राह्मण फैडरेशन राष्ट्रीय अध्यक्ष, के सी पांडे द्वारा सर्वप्रथम, एच एच पीवीएसएन सिम्हाया जी स्वामी, पीठ अद्वैत मंत्र राजम पीतम तिरुपति का नाम व आर्शिवाद लेकर, अध्यक्षीय संबोधन आरंभ किया गया, गठित ‘यूथ विंग’ के सभी पदाधिकारियों को बधाई दी गई। यूथ विंग को ब्राह्मणों के सरोकारों के लिए जुट जाने का आहवान किया गया। संगठन के उद्देश्यो, क्रियाकलापो व भविष्य की योजनाओं पर सारगर्भित, प्रकाश डाला गया। व्यक्त किया गया, सन 1952 देश की पहली संसद मे, 125 प्रबुद्ध ब्राह्मण सांसद देश भर के अनेक राज्यो से चुन कर आए थे। दुर्भाग्य, वर्तमान मे ब्राह्मण सांसदों की संख्या घटकर पचास से भी कम रह गयी है। डब्लू बी एफ ग्लोबल ब्राह्मण बिजनिश नेट्वर्क, ज्योतिर्विद व याज्ञिक पहल के लिए गठित टीम के बावत, यूथ विंग’ पदाधिकारियों को अवगत कराया गया।

ब्राह्मणो की आर्थिक, सामाजिक व राजनैतिक उन्नति कैसे सम्भव हो सकती है, पंडितो, मंदिर के पुजारियों व कर्म-कांडी पंडितों, जिनकी कोविड-19 काल मे आर्थिक स्थिति चरमरा गयी थी, किस प्रकार उनको राहत दिलवाने हेतु प्रयत्न किया गया, किस प्रकार, विजनिस कर रहे, ब्राह्मणों को वैश्विक फलक पर प्लेटफार्म मुहैया करवाने का प्रयास किया जा रहा है। इंट्रीप्रेंन्युअर डवलपमैंट, कम्यूनिटी डवलपमैंट व राष्ट्र निर्माण मे ब्राह्मणों की प्राथमिकता पर भी, के सी पांडे द्वारा विस्तार से अपनी बात रखी गई। ब्राह्मणों के नैतिक मूल्यों तथा कर्तव्यो का समाज के उत्थान व समृद्धि के लिए, विश्व ब्राह्मण फैडरेशन की नीतियों पर प्रकाश डाला गया। फैडरेशन के क्रियाकलापो व भावी योजनाओ के बावत, अवगत कराया गया। प्रत्येक कार्य में गठित यूथ विंग की जरूरत व महत्ता का जिक्र किया गया। फैडरेशन चेयरमैन पं.मांगेराम शर्मा (बाबू जी) से मिली प्रेरणा का बखान किया गया। निरंतर आशीर्वाद प्राप्ति हेतु, बाबू जी की दीर्घायु की कामना की गई।

राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे द्वारा, व्यक्त किया गया, ब्राह्मणों के मध्य चार सोच, ब्राह्मण गौरव सोच, राजनैतिक सोच, आर्थिक सोच व शैक्षिक सोच को गरिमामयी तौर-तरीकों व शालीनता से आगे बढाने पर बल देना होगा। व्यक्त किया गया, ब्राह्मण समुदाय बहुत बड़ा है। समय की मांग है, मानवीय मूल्यों की रक्षा हेतु ब्राह्मण, खास कर यूथ विंग, आगे आकर, वैश्विक फलक पर संगठन को विस्तार दे, परचम लहरा, ब्राह्मणों के कल्याण हेतु कार्य करे। राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय फलक पर सामाजिक व्यवहार बढ़ा, समन्वय कर, ब्राह्मण फैडरेशन का निरंतर, विस्तार कर, उसके बैनर तले, ब्राह्मणों की समृद्धि के लिए कार्य कर, उन्नति का मार्ग प्रशस्त करे।

के सी पांडे द्वारा, विश्व ब्राह्मण फैडरेशन के कार्यो, प्रयासों व आजतक मिली सफलता की सराहना की। व्यक्त किया, गठित ब्राह्मण फैडरेशन सही दिशा की ओर बढ़ रही है, चाहे वह संगठनात्मक दृष्टि से हो या सामाजिक दृष्टि से या फिर व्यवसायिक दृष्टि से। उन्होंने संगठन के यूथ विंग को आश्वासन दिया, वे विचारों व दिए गए सुझावों को ध्यान में रख, संगठन की मजबूती व उत्थान हेतु, प्रयास रत रहे। संगठन की मजबूती के लिए, अपने सुझावो से अवगत कराते रहे।

विश्व ब्राह्मण फैडरेशन ‘यूथ विंग’ राष्ट्रीय अध्यक्ष, प.अंबर स्वामी द्वारा, अध्यक्ष नियुक्त किये जाने पर, फैडरेशन कोर कमेटी का आभार व्यक्त किया गया, सभी नियुक्त पदाधिकारियों को साथ लेकर, कार्य करने का वायदा किया गया। राष्ट्रीय फलक पर ब्राह्मणों का परचम लहराने का आहवान किया गया।
————-

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *