अपने विधायकों की संपत्ति और अपनी पार्टी का ब्यौरा केजरीवाल ऑनलाइन क्यों नहीं डालते-रमेश बिधूड़ी

केजरीवाल इससे पहले भी 2014 में एक फेक लिस्ट जारी कर भाजपा नेताओं से माफी मांग चुके हैं-रमेश बिधूड़ी

नई दिल्ली, 23 मई। भारतीय जनता पार्टी के सांसद श्री रमेश बिधूड़ी ने कहा कि केजरीवाल सरकार हमेशा से भ्रम फैलाने का काम करती रही है।

अभी हाल ही में आम आदमी पार्टी के विधायक ने भाजपा नेताओं पर अवैध निर्माण करने का आरोप लगाया था, लेकिन वे रोहिंग्या-बांग्लादेशियों को मुफ्त बिजली, पानी और अन्य सुविधा देकर दिल्ली की सड़कों पर जो अतिक्रमण फैलाने का काम किया हैं, उसे बताना भूल गए।

उन्होंने कहा कि अनाधिकृत कॉलोनियों के ऊपर राजनीति करने वाले केजरीवाल ने केंद्र सरकार के बार-बार कहने के बावजूद सर्वे तक नहीं करा पाए हैं। जिसके बाद आम जनता के बारे में सोचने वाली मोदी सरकार को लोकसभा में बिल पास कराकर अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने का काम करना पड़ा।

आज प्रदेश कार्यालय में हुए एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए श्री रमेश बिधूड़ी ने बिजली बिल सहित कई सारे दस्तावेज दिखाकर केजरीवाल के विधायकों द्वारा लगाए गए अतिक्रमण के झूठे और मनगढ़ंत आरोप को सिरे से खारिज कर दिया। साथ ही उन्होंने आप विधायक को मानहानी का नोटिस भेज दिया है। श्री बिधूड़ी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि केजरीवाल अली बाबा अपने 40 चोरों को बचाने के लिए इस प्रकार की फेक लिस्ट जारी कर रहे हैं ताकि कल को कोई इनसे जवाब ना मांगे और इनके अवैध निमार्णों पर तलवार ना लटकनी शुरू हो जाए। प्रेसवार्ता में प्रदेश भाजपा मीडिया रिलेशन विभाग के प्रभारी श्री हरीश खुराना और प्रदेश भाजपा मीडिया सह-प्रमुख श्री हरिहर रघुवंशी उपस्थित थे।

श्री रमेश बिधूड़ी ने कहा कि केजरीवाल ने पहले भी इसी प्रकार से 2014 में कुछ नेताओं की फेक लिस्ट जारी कर लोगों को गुमराह किया। लोगों को यह दिखाने की कोशिश की कि वे दुनिया के सबसे ईमानदार व्यक्ति हैं और बाकि सब लोग बेईमान हैं। इसके बाद एक-एक कर के अपना मकसद पूरा कर लोगों से भावनात्मक बातें कर सत्ता हथिया ली। उन्होंने कहा कि केजरीवाल कहते रहे हैं कि 64 के 64 विधायक सभी ईमानदार हैं तो अपने विधायकों की संपत्ति और अपनी आम आदमी पार्टी का ब्यौरा ऑनलाइन क्यों नहीं डाला?

सांसद श्री रमेश बिधूड़ी ने तथ्यों के आधार पर आम आदमी पार्टी के विधायकों के भ्रष्टाचार व उनके द्वारा किए गए अवैध कब्जे और निर्माण की जानकारी दी कि किस तरह तुगलकाबाद क्षेत्र के विधायक सहीराम पहलवान ने डीडीए पार्क पर कब्जा कर अपना कार्यालय बनाया हुआ है और इस मामले में डीडीए ने उन पर केस भी किया है। उन्होंने कहा कि संगम विहार से विधायक दिनेश मोहनिया ने संगम विहार में अवैध निर्माण कर पॉंच मंजिला घर बनाया हुआ है जिस पर एमसीडी ने तोड़ने का नोटिस भी दिया है। इसी प्रकार देवली से विधायक प्रकाश जारवाल और अम्बेडकर नगर से अजय दत्त ने बारात घर व सामुदायिक केन्द्र में कार्यालय बनाया है जिससे स्थानीय लोगों को अपने कार्यक्रम आदि कार्यों में असुविधा होती है, यह लोगों की सहूलियत के लिए बनाए गए हैं ना कि उनमें कार्यालय चलाने के लिए।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *