प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य, शिक्षा और सामाजिक सेवा क्षेत्रों में कई मील पत्थर स्थापित किए: —जय राम ठाकुर

दिल्ली। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने दिल्ली में राष्ट्रीय साप्ताहिक पांचजन्य और ऑर्गेनाइजर (अंग्रेजी) के 75 वर्ष पूर्ण होने पर मीडिया कॉन्क्लेव में प्रतिभाग किया।

आयोजित मीडिया महामंथन कॉन्क्लेव के सायंकालीन सत्र में संवाद करते हुए जयराम ठाकुर ने कहा कि भारत अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। यह गर्व की बात है कि इन दोनों साप्ताहिक पत्रिकाओं ने अपनी यात्रा के 75 वर्ष पूर्ण कर लिए हैं और इसके लिए भारत प्रकाशन और आयोजक बधाई के पात्र हैं।

एक दिवसीय बात भारत की कॉन्क्लेव में भाजपा शासित आठ राज्यों उत्तराखण्ड, हरियाणा, मणिपुर, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और असम के मुख्यमंत्रियों ने भाग लिया। इस कॉन्क्लेव में भारत के सांस्कृतिक और आर्थिक विकास, आजादी का अमृत महोत्सव, भारत का बहुआयामी विकास और भारत के गौरव से सम्बन्धित अन्य विषयों के साथ पांचजन्य और ऑर्गेनाइजर की गौरवशाली यात्रा पर प्रकाश डाला गया।

मुख्यमंत्री ने साप्ताहिक पत्रिकाओं की गौरवशाली यात्रा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पण्डित दीन दयाल उपाध्याय पांचजन्य के संस्थापक थे और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी 1948 में इसके पहले सम्पादक थे। उनके मार्गदर्शन में इन पत्रिकाओं ने अपनी पहचान बनाई और पत्रकारिता की श्रेष्ठता हासिल की। वर्ष 1947 में अंग्रेजी साप्ताहिक ऑर्गेनाइजर की शुरूआत की गई।

मुख्यमंत्री श्री ठाकुर ने आम लोगों से जुड़े मुद्दों को खोज कर प्रकाशित करने पर बल देते हुए कहा कि पांचजन्य और अंग्रेजी साप्ताहिक ऑर्गेनाइजर ने सच्चे अर्थों में आम लोगों के हितों के लिए कार्य किया है। उन्होंने कहा कि विपरीत परिस्थितियांे के बावजूद इन दोनों प्रकाशनों ने बिना किसी दबाव और प्रभाव के राष्ट्रवाद को प्राथमिकता प्रदान की और सत्य के मार्ग पर आगे बढ़ते रहे।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सोशल मीडिया और इन्टरनेट के वर्तमान दौर में समाचारों की कोई कमी नहीं है, परन्तु तथ्यात्मक जानकारी के साथ मूल्य आधारित समाचार प्रस्तुत करना वर्तमान मीडिया के लिए एक चुनौती है। उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि पांचजन्य और ऑर्गेनाइजर पिछले 75 वर्षों से बखूबी अपना काम कर रहे हैं।

इस अवसर पर उन्होंने वर्ष 2021 के लिए प्रिंट, इलैक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया में व्यवसायिकता के उच्च मानकों को स्थापित रखने और अपने काम के माध्यम से जनता का विश्वास अर्जित करने वाले सम्मानित मीडिया कर्मियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि पत्रकारों का पहला कर्तव्य है कि वे सामाजिक मुद्दों को सही परिप्रेक्ष्य में उजागर करें और लोगों के समक्ष तथ्य प्रस्तुत करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत 9 करोड़ से अधिक लाभाथिर्यों को लाभ प्रदान करने के उद्देश्य से केन्द्र सरकार द्वारा प्रति गैस सिलेण्डर 200 रुपये का अनुदान प्रदान करने की घोषणा की सराहना की। इसके अन्तर्गत लाभार्थियों को 12 सिलण्डरों तक सब्सिडी प्राप्त होगी। उन्होंने केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोल के मूल्य में साढ़े 9 रुपये और डीजल के मूल्य में 7 रुपये की कटौती का भी स्वागत किया। उन्होंने उर्वरक की सब्सिडी के लिए पूर्व में 1.05 लाख करोड़ रुपये के अतिरिक्त 1.10 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान करने का भी स्वागत किया।

कॉन्क्लेव में चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी पार्टी का कोई राजनीतिक भविष्य नहीं है, क्योंकि वे खबरों में बने रहने के लिए दुष्प्रचार करते हैं। मुख्यमंत्री ने आप पार्टी पर तंज कसतेे हुए कहा कि वे पहाड़ नहीं चढ़ पाएंगे। उन्होंने कहा कि हिमाचल के बारे में राजनीतिक दूरदृष्टि के अभाव के कारण हाल ही में आप पार्टी की राज्य इकाई को भंग किया गया है। उन्होंने कहा कि पंजाब का राजनीतिक परिदृष्य हिमाचल के परिदृष्य से अलग है और हिमाचल प्रदेश के लोग आप पार्टी के झूठे वायदों में नहीं आएंगे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य, शिक्षा और सामाजिक सेवा जैसे क्षेत्रों में कई मील पत्थर स्थापित किए हैं। प्रदेश सरकार ने गरीब परिवारों को रसोई गैस एवं धुआं रहित चूल्हा प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना शुरू की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगांे को स्वरोजगार शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना आरम्भ की है। इस योजना के अन्तर्गत उद्यम शुरू करने के लिए मशीनरी और उपकरण की खरीद पर एक करोड़ रुपये के निवेश पर 25 से 30 प्रतिशत तक के उपदान का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि 18 से 50 वर्ष आयु वर्ग की महिलाओं को इस योजना के अन्तर्गत 35 प्रतिशत का उपदान प्रदान किया जा रहा है।

इस अवसर परजय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री शगुन योजना के अन्तर्गत बीपीएल परिवारों की बेटियों को 31000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। पंचायतीराज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाला हिमाचल पहला राज्य है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में शुरू की गई मुख्यमंत्री सहारा योजना के अन्तर्गत गम्भीर बीमारियों से पीड़ित 20 हजार मरीज लाभान्वित हुए हैं। मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई अन्य कल्याणकारी योजनाओं की भी जानकारी प्रदान की।

इस अवसर पर आयोजकों द्वारा मुख्यमंत्री को शॉल और स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर किताबों और पांचजन्य द्वारा राम मन्दिर पर प्रकाशित विशेषांक राष्ट्रीय मन्दिर का भी विमोचन किया।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *