झारखंड को हम बदलते भारत की नई पहचान से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं : नरेन्द्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  ने दुमका, झारखंड के दुमका एयरपोर्ट ग्राउंड में आयोजित विशाल जन-सभा को संबोधित किया और झारखंड की विकास यात्रा को जनता के सामने विस्तार से रखते हुए इसे और गति देने के लिए एक बार पुनः पूर्ण बहुमत की भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का आह्वान किया। बाबा बैद्यनाथ, भगवान् बासुकी नाथ, फौजदारी बाबा को शत-शत नमन करते हुए श्री मोदी ने भगवान् बिरसा मुंडा की पावन भूमि का शीश झुकाकर वंदन किया और झारखंड की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी सरकार झारखंड के विकास के लिए कृतसंकल्पित है। उन्होंने कहा कि अब तक हुए तीन चरणों के मतदान के रुझान से यह स्पष्ट हो गया है कि  झारखंड में हर जगह भारतीय जनता पार्टी को अपार समर्थन और जनता का आशीर्वाद मिल रहा है। झारखंड पुकारा, भाजपा दोबारा! इस अभूतपूर्व जनसमर्थन का कारण है हमारा देश के गरीबों, आदिवासियों, दलितों एवं पिछड़ों के लिए सेवा भाव। हम आपका सेवक बनकर काम करते हैं। आदिवासी इलाकों में मैंने अपने जीवन का बड़ा हिस्सा गुजारा है, उनके साथ काम किया है। आपकी सेवा के लिए, देश की सेवा के लिए हमारा ये समर्पण ही हमें औरों से अलग करता है। जबकि जिन लोगों पर झारखंड की जनता ने कभी भरोसा किया था, जिन्हें झारखंड के आदिवासियों ने इतना मान-सम्मान दिया था, उन्होंने अपना तो भला कर लिया पर आप लोगों के साथ अन्याय किया। ऐसे लोगों को आपकी चिंता नहीं है, आपके परिवार की चिंता नहीं है।

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  ने कहा कि कांग्रेस, आरजेडी और झारखंड मुक्ति मोर्चा को तो केवल और केवल अपने परिवार की चिंता है, उनकी तिजोरी भरती रहे, इसकी चिंता करते हैं। झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के पास झारखंड के विकास का कोई रोडमैप नहीं है। वे एक ही बात जानते हैं और वह है – बस भाजपा का विरोध और भाजपा का विरोध करते-करते इन लोगों को देश का विरोध करने की आदत लग गई है। अभी हमारी देश की संसद ने नागरिकता कानून से जुड़ा एक बड़ा बदलाव किया है। इससे पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आए लाखों हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध शरणार्थी परिवारों का जीवन सुधरने वाला है लेकिन देश की जनता को यह जान कर हैरानी होगी कि इस बात का विरोध अब कांग्रेस विदेश में भी करेगी। भारत के दूतावासों पर जैसे पाकिस्तानी प्रदर्शन करते हैं, वैसे ही कांग्रेस भी प्रदर्शन करेगी। पाकिस्तान की बोली बोलते-बोलते कांग्रेस के नेता अब पाकिस्तानी हरकतों को भी अपनाने लगे हैं। देश और देश की जनता का भला करने की इन लोगों से उम्मीद नहीं की जा सकती, ये तो बस अपने परिवार के बारे में सोचते हैं और इसलिए, जो देश के हित में काम करता है, समाज के हित में काम करता है, उसे ये कभी उचित सम्मान नहीं देते।

श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने झारखंड की विभूतियों और आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों का भी सम्मान नहीं किया। यही कारण है कि आदिवासी समाज से निकले ऐसे सेनानियों की गाथाओं को अमर बनाने के लिए भाजपा प्रयास कर रही है। देशभर में आदिवासी सेनानियों से जुड़े स्मारक और संग्रहालय बनाए जा रहे हैं, बड़े संस्थान बनाए जा रहे हैं। इतना ही नहीं, हमारा प्रयास है कि जनजातीय भाषा, संस्कृति और परंपरा को सुरक्षित और संरक्षित रखने के लिए उच्च शिक्षा को बढ़ावा दिया जाए। संथाली भाषा और साहित्य देश के प्राचीनतम ज्ञान के संसाधनों में से एक है। यही कारण है कि देशभर में नए ट्राइबल रिसर्च इंस्टीट्यूट खोले जा रहे हैं। दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय स्तर का आदिवासी संस्थान जल्द बने, इस पर भी काम किया जा रहा है। संस्कृति और परंपरा के ये स्थान, ज्ञान और प्रेरणा के साथ-साथ पर्यटन के, रोज़गार के लिए भी अहम होते हैं। यहां आध्यात्म और आस्था से जुड़े टूरिज्म के लिए बहुत संभावनाएं हैं, इसलिए भाजपा इस क्षेत्र में भी तत्परता से काम कर रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले सरकारी योजनाएं और कार्यक्रम सिर्फ कागज़ों तक सिमट कर रह जाया करती थी क्योंकि सरकार और जनता के बीच एक बहुत बड़ी खाई थी। पहले ये खाई राजनीति की थी, अफसरशाही की थी, भ्रष्टाचार की थी, असंवेदनशीलता की थी। हम इस खाई को पाटने में निरंतर जुटे है और इसमें अभूतपूर्व सफलता भी मिली है। ये जनभागीदारी का ही परिणाम है जिसके बल पर पांच वर्ष में ही देशभर में 11 करोड़ से अधिक शौचालय बने जबकि झारखंड में भी लगभग 36 लाख शौचालय तैयार हुए हैं। आज झारखंड के 33 लाख परिवारों को गैस का मुप्त कनेक्शन मिला है, इसमें भी आदिवासी और दलित बहनों को करीब 12 लाख कनेक्शन मिले हैं। बीते 4 साल में ही झारखंड में 10 लाख गरीबों के घर बने हैं और 8 लाख घरों पर काम चल रहा है। अब हम इस संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे हैं कि देश के हर गरीब के पास अपना पक्का घर हो। इसके साथ ही हमने अब हर घर जल पहुंचाने के लिए भी बहुत बड़ा अभियान शुरु किया है। जल जीवन मिशन के तहत जो भी काम होगा, उसमें ग्राम समितियों, जल समितियों का बहुत व्यापक भूमिका होगी। झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस का तो ध्यान ही इस बात पर रहा कि सिंचाई विभाग के बजट में किस नेता, किस पार्टी का अधिक हिस्सा रहेगा। आजादी के अनेक दशकों बाद भी झारखंड में सिर्फ 12 से 15 प्रतिशत गांवों और कस्बों तक पानी की पाइपलाइन पहुंची थी। इस स्थिति को बदलने का काम भाजपा ने किया। इसी का परिणाम है कि बीते पाँच साल में झारखंड में पाइपलाइन की कनेक्टिविटी दो गुना से अधिक हो चुकी है। यही तो स्वराज है, यही सुशासन का आधार है। जो पहले कोई सोच भी नहीं सकता था, वो हमने करके दिखाया है। भाजपा की सरकार के काम करने का तरीका ही यही है।

श्री मोदी ने कहा कि हमारा यही सेवा भाव, आपके जल, जंगल और जमीन के अधिकार को सुरक्षित रखने की गारंटी देता है। भाजपा की सरकार आपको पूछे बगैर, आपकी अनुमति के बगैर कोई भी कदम नहीं उठा सकती। जनहित, जन-भावना और आपकी इच्छा ही हमारे लिए सर्वोपरि है। संवेदनशीलता, जन समस्याओं के प्रति सजगता और उनके निराकरण के लिए ईमानदार प्रयास ही भाजपा की सरकार की पहचान रहे हैं। झारखंड मुक्ति मोर्चा लंबे समय से कांग्रेस की सहयोगी रही है। दिल्ली, बिहार और फिर झारखंड में भी सरकारों में वह शामिल रही है लेकिन इतने वर्षों में उन्होंने झारखंड की पहचान के साथ पिछड़ा शब्द जोड़ दिया। दुमका सहित झारखंड के 20 जिले ऐसे हैं जहां कांग्रेस और उसके साथी, बरसों से शासन के बावजूद बुनियादी सुविधाएं तक नहीं पहुंचा पाए। ये भाजपा की ही सरकार है जिसने झारखंड के 20 जिलों को पिछड़े के बजाय आकांक्षी जिला घोषित किया। आकांक्षी मतलब जो विकास चाहता है और जिसका विकास करने का संकल्प हमने लिया है। देश के 100 से अधिक ऐसे जिलों में सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले टॉप के 3 जिले झारखंड के हैं। ये फर्क होता है, सोच में और संकल्प में जो कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा के पास नहीं है। झामुमो, कांग्रेस और वामपंथियों के लिए आपका विकास, आदिवासी क्षेत्रों का विकास कभी प्राथमिकता नहीं रहा है। यही कारण है कि आजादी के अनेक दशकों तक आदिवासी क्षेत्र बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसी बुनियादी सुविधाओं से वंचित रहे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हर गांव तक बिजली पहुंचाने का काम भाजपा ने किया है। अब हर गांव को सड़क से जोड़ने का काम भी भाजपा कर रही है। इस क्षेत्र को रेलवे से जोड़ने और दुमका हवाई अड्डे को सुधारने का काम भी भाजपा ही कर रही है। झारखंड के हर किसान परिवार को हर वर्ष हज़ारों रुपए की सीधी मदद बैंक खाते में जमा करने का काम भी भाजपा ही कर रही है। आदिवासी बच्चों को पढ़ाई-लिखाई के लिए ज्यादा दूर तक ना जाना पड़े, इसके लिए हर ब्लॉक में एकलव्य मॉडल स्कूल बनाने का संकल्प भी भाजपा का ही है। झारखंड में IIT, AIIMS जैसे उच्च शिक्षा के, इंजीनियरिंग और डॉक्टरी की पढ़ाई के संस्थान खुलें, ये काम भी भाजपा ने किया है। कांग्रेस और झामुमों की सरकारों ने तो यहाँ एम्स के लिए रोड़े अटकाने का काम किया था। जिस झारखंड को कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा ने पिछड़ेपन का प्रतीक बनाया, उसी झारखंड को हम बदलते भारत की नई पहचान से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।

श्री मोदी ने कहा कि विगत पांच वर्षों में देश की सबसे बड़ी और करोड़ों लोगों का जीवन बदलने वाली योजनाओं की शुरुआत यहीं से हुई है। मुद्रा योजना की शुरुआत यहीं दुमका से की गई थी। करीब 10 लाख करोड़ रुपए के लगभग 20 करोड़ ऋण बैंकों से छोटे उद्यमियों को मिल चुके हैं। झारखंड के लाखों युवाओं को, बहनों को इससे स्वरोजगार मिला है, बैंकों से बिना गारंटी का ऋण मिला है। इसमें 55 प्रतिशत से अधिक दलित, आदिवासी और पिछड़े उद्यमी हैं। दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थकेयर स्कीम आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत भी झारखंड से ही की गई थी। देश के करोड़ों किसान परिवारों और छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन की ऐतिहासिक योजना की शुभ शुरुआत का गौरव भी झारखंड के नाम ही है। उन्होंने कहा कि भाजपा हिंसा के रास्ते पर निकले युवाओं को सही रास्ते पर लाने के लिए प्रतिबद्ध है। मुझे खुशी है कि भाजपा के विकास कार्यों के बाद, बहुत से युवा अब मुख्यधारा में लौट रहे हैं, अपने परिवारों के बीच वापस आ रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि झारखंड के विकास का ये रास्ता तभी मजबूत हो सकता है, जब झारखंड की जनता एक बार फिर भाजपा की डबल इंजन की सरकार को मजबूत करेगी। झारखंड में गरीब, आदिवासी, दलित, पिछड़े, वंचित, शोषित, किसान और श्रमिकों के हित में चलने वाली योजनाएं तभी ठीक से आगे बढ़ पाएंगी जब दिल्ली और रांची में एक ही सोच और समझ वाली सरकार हो। झारखंड का तेज़ विकास तभी संभव हो पाएगा जब वादों वाली नहीं इरादों वाली भाजपा सरकार हो। मुझे विश्वास है कि झारखंड की जनता एक बार फिर कमल के फूल को पूरी शक्ति के साथ प्रदेश में खिलाएगी।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *