40 वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला मे हरियाणा का मंडप आकर्षण का केंद्र बना है

दिल्ली।प्रगति मैदान में आयोजित 40 वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में ‘आत्मनिर्भर भारत- आत्मनिर्भर हरियाणा’ विषयवस्तु के साथ हरियाणा मंडप आगंतुकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना है।

             उल्लेखनीय है कि नई दिल्ली में प्रगति मैदान में 14 नवंबर से  27 नवंबर तक 40 वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला  आयोजित किया जा रहा है। ‘आत्मनिर्भर भारत-आत्मनिर्भर हरियाणा’ विषयवस्तु के साथ हरियाणा प्रदेश गत वर्षों की भांति सक्रिय रूप से भागीदारी कर रहा है। हरियाणा मंडप में हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय व हरियाणा के मुख्यमंत्री  श्री मनोहर लाल के संदेश प्रदेश सरकार के विजन के परिचायक है।

                उल्लेखनीय है कि हरियाणा देश के सर्वाधिक प्रगतिशील राज्यों में शामिल है।हरियाणा प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में हुई उन्नति को हरियाणा मंडप में बेहतर रूप से प्रदर्शित किया गया है।”एक आदर्श निवेश गंतव्य-अंतहीन अवसर” के संदेश के साथ हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम के विभिन्न मेगा फूड पार्क,फुटवियर पार्क,आईएमटी व अन्य औद्योगिक क्षेत्रों का विवरण प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा राज्य से होने निर्यात को    राज्य की प्रगति के रूप में प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा का वर्ष 1967-68 में 4.5 करोड रूपये का निर्यात बढकर वर्ष 2020-21 में 1,74,572 करोड रूपए तक पहुंच गया।
      हरियाणा कृषि एवं व्यवसाय निती , सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्योग निती. तथा हरियाणा उद्यम और रोजगार निती  को भी प्रदर्शित किया हुआ है। ‘एक खंड-एक उत्पाद’ को हरियाणा सरकार के एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में प्रदर्शित किया गया है। एकीकृत विमानन हब को प्रदर्शित किया गया है।कौशल विकास प्रशिक्षण के मिशन के रूप में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय का विवरण प्रदर्शित किया हुआ है।
           उद्योगों की मांग व आवश्यकता के अनुसार तकनीकी शिक्षा के विकास को दर्शाया गया है। तकनीकी शिक्षा के विकास और तकनीकी विश्वविद्यालयों, इंजिनियरिंग काॅलेजों,बहुतकनीकी संस्थानों व अन्य संस्थानों का विवरण दिया हुआ है। इसके अतिरिक्त आईआईआईटी सोनीपत, आईआईएम रोहतक, नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन कुरूक्षेत्र व नैशनल इंस्टीट्यूट आफ फैशन टेक्नोलॉजी का विवरण दिया हुआ है।
       विद्युत क्षेत्र में हरियाणा के विद्युत निगमों का लाभ में होने तथा ‘म्हारा गांव जगमग गांव’ योजना के परिणामस्वरूप हरियाणा के दस जिलों में चौबीस घंटे विद्युत आपूर्ति की दर्शाया गया है। हरियाणा के 5367 गांवों में 24 घंटे व 1658 गांवों में 16 घंटे से 18 घंटे विद्युत आपूर्ति का विवरण प्रदर्शित किया गया है। स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार विवरण दर्शाया गया है। हरियाणा को खेलों के एक हब के रूप में प्रदर्शित किया हुआ है। ओलंपिक व पैरालम्पिक के विजेता खिलाडियों को दी गई पुरस्कार राशि व अन्य सुविधाओं का विवरण दिया हुआ है।
     परिवार पहचान-पत्र योजना का विस्तृत विवरण प्रदर्शित किया हुआ है। परिवार पहचान-पत्र बनाने वाला हरियाणा देश का प्रथम राज्य है। वालंटियर सेवा के विस्तार की दिशा में ‘समर्पण’ कार्यक्रम को शानदार रूप से प्रदर्शित किया हुआ है। केंद्र सरकार की योजनाओं को भी सही रूप में डिस्प्ले किया हुआ है।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *