नेहरू जी की 132 वी जयंती मनाई गई

दिल्ली।वरिष्ठ स्वतंत्रता सेनानी आजाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री आधुनिक भारत के प्रमुख सूत्रधार भारत रत्न पंडित जवाहरलाल नेहरु जी की 132वीं जयंती के उपलक्ष में दिल्ली के तमाम कांग्रेसजनों ने दिल्ली में उनके समाधि स्थल शांतिवन में जाकर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की और चाचा नेहरू अमर रहे के नारों से प्रातः काल का समय गुंजित कर दिया।

सर्वप्रथम अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी जी के आगमन के पश्चात दिल्ली के तमाम नेतागण और पदाधिकारी कार्यकर्ता 14 नवंबर बाल दिवस के रूप में मनाते हुए पंडित जवाहरलाल नेहरु जी को भी याद किया।

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के जुझारू और कर्मठ अध्यक्ष चौधरी कुमार के नेतृत्व में शांतिवन समाधि स्थल पर भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता एकत्रित थे। इस मौके पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कानूनी व मानव अधिकार विभाग के महासचिव एडवोकेट हरीश गोला एवं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षक मनोज गुप्ता श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए एक संयुक्त बयान में कहा कि देश की आजादी के संघर्ष से लेकर आधुनिक भारत के निर्माण में पंडित जवाहरलाल नेहरू का योगदान भुलाया नहीं जा सकता उनके कार्यकाल में देश के विकास के संदर्भ में 1951 में पंचवर्षीय योजनाओं की शुरुआत व एशियाई खेलों का शुभारंभ हुआ। नेहरू जी के कार्यकाल में देश का प्रथम कंप्यूटर कोलकाता में वर्ष 1955 स्थापित किया गया। अस्पर्शयता समाज की बुराई थी छुआछूत को वर्ष 1955 में अपराध की संज्ञा भी नेहरूजी के कार्यकाल में दी गई। देश में व्यापक औद्योगिकरण और विकास के मद्देनजर वर्ष 1956 में नेहरू जी के समय में औद्योगिक नीति संकल्प लिया गया और इसी वर्ष राज्य पुनर्गठन अधिनियम भी लागू किया गया। वर्ष 1959 में राज्य के स्वामित्व वाले टेलीविजन प्रसारक दूरदर्शन की स्थापना करी गई। देश में आईआईटी और आईआईएम और एम्स की स्थापना वर्ष 1961 में करी गई। यह सभी उपलब्धियां पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के कार्यकाल में ही हुई। समाज की कुरीति दहेज प्रथा के विरुद्ध दहेज निषेध अधिनियम 1961 में लागू किया गया। नेहरुजी की दूरदर्शिता के कारण देश की कृषि खुशहाली के लिए सन 1963 में भाखड़ा-नांगल-बांध परियोजना देश को समर्पित कर गई। नेहरू जी की 132वीं जयंती के मौके पर उपस्थित जनसमुदाय ने नारे लगा कर नेहरू जी को उनकी समाधि स्थल शांतिवन पर याद किया।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *