हंस फाउंडेशन हमेशा देश व समाज के लोगों की मदद के लिए आगे आकर कार्य करता है—-सजय शर्मा दरमोडा़

दिल्ली।जो शख्स किसी के दुखों को ना देख सके जो समाज के लोगों ओर आम जनता के दुखों के प्रति रात दिन काम करके जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे रहते है, जब ऐसी शख्सियत के नाम की चर्चाएं होती है तो देवभूमि उत्तराखंड के मूल निवासी और दिल्ली प्रवासी उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता समाज सेवी संजय शर्मा दरमोडा़ का नाम अपने आप सभी की जुबां पर आ जाता है। वरिष्ठ समाजसेवी वरिष्ठ अधिवक्ता संजय शर्मा शर्मा दरमोडा़ ने बताया कि वे अपने आप व अपनी टीम को सौभाग्यशाली समझते हैं, कि ममतामई माता श्री मंगला जी परम पूजनीय भोले जी महाराज ने मानव सेवा के लिए उन सबको चुना है। उन्होंने बताया कि पिछले कोरोना काल से कोरोना की दूसरी लहर में प्रदेश की जनता के लिए हर संभव मदद करने में आगे रहने वाली ममतामई माता श्री मंगला जी परम पूज्य भोले जी महाराज इस दूसरी लहर में भी उत्तराखंड की जनता के लिए हर संभव मदद का बीड़ा उठाया है।
उन्होंने कहा कि आशा वर्करों व स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पीपी किट सैनिटाइजर, मास्क और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर ,ऑक्सीमीटर, आदि उपलब्ध कराए गए हैं। उन्होंने कहा उनके माध्यम से रुद्रप्रयाग क्षेत्र के कई गांव में आशा वर्करों को स्वास्थ्य कर्मियों को या सामग्री हम लोग उपलब्ध करा रहे हैं । श्री दरमोडा़ ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिह रावत का भी आभार प्रकट करते हुए कहा कि जो बच्चे इस महामारी के कारण अनाथ हो गए जिनके घर में कमाने वाले चले गए उनके लिए जो पहल करी है उसके लिये मुख्यमंत्री का दिल से आभार प्रकटकरता हू।
उन्होंने कहा प्रदेश में इस समय गांव गांव में इस बीमारी ने पैर पसार रखे हैं इस घटी मे प्रदेश की सरकार व हंस फाउंडेशन भी इस महामारी से आम जनता को छुटकारा दिलाने में प्रयास कर रही है।
उन्होंने कहा स्वयं मैंने भी एक संकल्प लिया है कि महामारी के समय हर जरूरतमंद की मदद के लिए जितना संभव हो सके मैं पूरी कोशिश करूंगा कि उनकी मदद करूं, और उनके इस अमूल्य जीवन बचाने का भरसक प्रयास करूंगा।
उन्होंने स्वास्थ्य सेवा से जुड़े डॉक्टर नर्स व अन्य स्टाफ का भी आभार प्रकट किया, कि जो रात दिन इस महामारी के समय हम सब की सेवा कर रहे हैं, वह सब देवतुल्य है। उन्होंने बताया कि मेरे जीवन का मूल मकसद आमजन जरूरतमंदों की सेवा करना है।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *