अपोलो म्यूनिक ने कैंसर-स्‍पेसिफिक बीमा योजना iCan लॉन्च की 

नई दिल्ली, : भारत को स्वास्थ्य के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने में अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हुए, अपोलो म्यूनिक हेल्‍थ इंश्‍योरेंस ने आज एक व्यापक कैंसर योजना iCan को लॉन्‍च किया। यह एक आजीवन कवरेज योजना है और क्‍लेम के बाद भी साल दर साल वार्षिक रिन्‍यूअल पॉलिसी के साथ आती है। इस योजना में न केवल कैंसर संबंधी मेडिकल खर्चों को कवर किया जाता है, बल्कि यह रोगी के साथ-साथ परिवार को भी कैंसर की सभी स्‍टेजेज में संपूर्ण फाइनेंशियल सिक्‍युरिटी प्रदान करती है।
यह विशिष्ट और अभिनव कैंसर योजना शुरुआती और एडवांस दोनों स्‍टेज में कैंसर के सभी रूपों को कवर करती है। स्‍टैंडर्ड प्‍लान के अलावा, जिसमें केमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी और ऑर्गन ट्रांसप्‍लांट जैसे पारंपरिक उपचार शामिल हैं, यह पॉलिसी प्रोटॉन बीम थेरेपी, हार्मोनल थेरेपी, स्टेम सेल प्रत्यारोपण, इम्यूनोथेरेपी जैसे एडवांस उपचारों को प्राप्‍त करने का वैकल्पिक लाभ भी देती है।
इस योजना में क्रिटीकेयर और फैमिलीकेयर जैसी खूबियां भी हैं जिसमें पॉलिसीधारक को सम इंश्‍योर्ड का 60% कैंसर की पहचान होने पर लम्‍पसम पेमेंट के रूप में मिलता है और एडवांस स्‍टेजेज की पहचान होने या कैंसर के दोबारा उभरने पर 100% सम इंश्‍योर्ड मिलता है। यह अस्‍पताल में भर्ती होने के खर्च के अलावा है। यह आजीवन नवीकरण भी प्रदान करता है जो पॉलिसीधारक को स्वास्थ्य स्थिति या पॉलिसीधारक के क्‍लेम्‍स  के बावजूद भी कवर करता है।
इस योजना की घोषणा के दौरान, अपोलो म्यूनिक हेल्‍थ इंश्‍योरेंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी  एंटनी जैकब ने कहा कि, “बदलती जीवनशैली के साथ, उन लोगों की संख्‍या में हमें वृद्धि देखने को मिली है जिन्‍हें कैंसर हुआ है। हर साल 7 लाख से अधिक भारतीय कैंसर रोगियों के रूप में पंजीकृत होते हैं और आज कैंसर से पीड़ित भारतीयों की अनुमानित संख्या लगभग 2.5 मिलियन है। इस तरह के आंकड़ों को देखकर लगता है कि शायद कैंसर पॉलिसी पर विचार करना समय की जरूरत है।”
उन्होंने यह भी कहा कि, “हमने तीन पहलुओं को ध्यान में रखते हुए इस योजना की परिकल्‍पना की है – i) कैंसर का आर्थिक बोझ परिवारों की उच्च लागत प्रबंधित करने की क्षमता को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है, और उन्हें गरीबी की तरफ धकेलता है ii) एडवांस उपचार की लागत, यदि व्यक्ति कैंसर की अंतिम अवस्था में पहुंचता है, iii) कैंसर उपचार अक्सर लंबा और महंगा होता है। iCan  के लॉन्च के साथ, हमने ग्राहक केंद्रित सुविधाओं की पेशकश की है जैसे परिवार को सहयोग, अस्‍पताल में भर्ती होने से पहले और बाद में सहयोग और आजीवन रिन्‍यूअल सहित कई अन्‍य खूबियां। यह एक “फ्‍यूचर रेडी” उत्पाद है जो एडवांस उपचारों को कवर करता है, जबकि परिष्कृत संज्ञानात्मक प्रणालियों का उपयोग करके सेकंड ओपिनियन भी देता है जैसे कि ओन्कोलॉजी के लिए आईबीएम वाटसन का इस्‍तेमाल लोगों को उपचार के लिए निर्णय लेने में सक्षम बनाता है। हम अपने ग्राहकों को बेहतर सेवा देने की उम्मीद करते हैं और हमें पूरा भरोसा है कि iCan इस विशिष्ट पेशकश के माध्यम से बड़े पैमाने पर समुदायों में सकारात्मक परिवर्तन लाएगा।”
उत्पाद की प्रमुख खूबियों में शामिल है
जीवनकालिक नवीनीकरण (लाइफलॉन्‍ग रिन्‍यूअल) – स्वास्थ्य स्थिति या क्‍लेम्‍स के बावजूद iCan आजीवन नवीनीकरण के विकल्प के साथ आता है। इस सुविधा के आधार पर, बीमाधारक जीवन भर अपनी मेडिकल पॉलिसी द्वारा प्रदान की गई सुरक्षा का लाभ ले सकता है
उन्नत और पारंपरिक उपचार के लिए कवर – स्‍टैंडर्ड प्‍लान कैंसर के लिए अस्पताल में भर्ती और आउट पेशेंट उपचार के लिए चिकित्सा खर्चों को कवर करता है जिसमें केमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी और ऑर्गन ट्रांसप्‍लांट जैसे पारंपरिक उपचार शामिल हैं, जबकि इसमें एडवांस उपचार प्राप्त करने का वैकल्पिक लाभ भी है।
क्रिटीकेयर लाभ – उपचार के लिए अस्पताल में होने वाली लागत के अतिरिक्त, कंपनी बीमित राशि का 60% कैंसर की पहचान होने पर लम्‍पसम पेमेंट के रूप में भुगतान करेगी। यह लाभ इस तथ्य को सुनिश्चित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है कि व्यक्ति के पास अन्य खर्चों के बावजूद पर्याप्त धन है।
 फैमिलीकेयर बेनिफिट- कैंसर के एडवांस चरणों में, उपचार कठिन हो जाते हैं, लंबे समय तक इलाज के कारण व्यक्ति की स्थिति ज्‍यादा नाजुक हो जाती है। हालांकि, कोई भी अपने परिवार की सहायता कर सकता है क्योंकि iCan 100% बीमा राशि का भुगतान बीमारी की एडवांस स्‍टेजेज या कैंसर के दोबारा उभरने के निदान पर एक बार में करता है।
केयर पोस्‍ट ट्रीटमेंट का पालन करें – कंपनी सालाना दो बार 3000 रुपये तक मेडिकल परीक्षण  में किए गए खर्चों को कवर करेगी, कैंसर के इलाज के बाद कम से कम छह महीने तक मेडिकल प्रैक्टिशनर की सिफारिश की गई है, “बीमारी का कोई सबूत नहीं (एनईडी)
प्रि-हॉस्प्टिलाइजेशन – अस्पताल में भर्ती होने से पहले किए गए चिकित्सा खर्च को प्रि-हॉस्पिटलाइजेशन कहा जाता है। यह भर्ती होने से पहले 30 दिनों के लिए कवर होगा।
पोस्ट हॉस्पिटलाईजेशन- अस्पताल से छुट्टी के बाद किए गए चिकित्सा खर्च को पोस्ट हॉस्पिटलाईजेशन कहा जाता है। अस्पताल से छुट्टी के बाद 60 दिनों तक के खर्चे को इसमें शामिल किया जाता हैI
एम्बुलेंस कवर बेनेफिट-  किसी आपात स्थिति के मामले में बीमित व्यक्ति के परिवहन के लिए अस्पताल में किए गए खर्च, प्रति अस्पताल 2000 रूपये हैI
कंपनी नियमों और शर्तों की समीक्षा करने के लिए पॉलिसी दस्तावेज की प्राप्ति की तारीख से 15 दिनों का समय प्रदान करती है। किसी भी आपत्ति के मामले में, पॉलिसी रद्द करने का एक विकल्प भी है और किसी भी मेडिकल चेक-अप, स्टाम्प ड्यूटी शुल्क और आनुपातिक रिस्‍क प्रीमियम पर खर्च की गई राशि समायोजित करने के बाद प्रीमियम वापस कर दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त, इस पॉलिसी के अंतर्गत पॉलिसी को रिन्‍यू कराने के लिए 30 दिनों की रियायत अवधि प्रदान की जाती है।
परिवार में 5 से 65 वर्ष की आयु का कोई भी सदस्य इस पॉलिसी को खरीद सकता है।
अपोलो म्यूनिक हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के विषय में
अपोलो म्यूनिक अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे और सरल सेवाओं के साथ अभिनव और पुरस्कार प्राप्त हेल्‍थ, पर्सनल एक्‍सीडेंट और ट्रैवेल इंश्‍योरेंस प्‍लांस की पेशकश करता है। इनकी पेशकश संलग्‍न कर्मचारियों द्वारा की जाती है। यह एशिया के सबसे बड़े हेल्‍थकेयर ग्रुप अपोलो हॉस्पिटल्‍स ग्रुप और वैश्विक स्वास्थ्य बीमा और रिइंश्‍योरेंस उत्‍कृष्‍टता प्रदान करने वाले म्‍यूनिक रे के हेल्‍थ बिजनेस सेगमेंट म्‍यूनिक रे के बीच एक संयुक्त उद्यम है।
Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *