उत्तराखंड का “श्री अन्न” एक ब्राण्ड के रूप में स्थापित हो चुका है—गणेश जोशी 

नई दिल्ली,18 जुलाई। प्रदेश के कृषि मंत्री/ कोसाम्ब के चेयरमैन गणेश जोशी ने मंगलवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से यह वर्ष अंतर्राष्ट्रीय मिलेट वर्ष घोषित किया गया है। मंत्री ने श्री अन्न मोटा अनाज हमारी परंपरागत खेती में है। मंत्री ने कहा उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में मिलेट्स “श्री अन्न” को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में मिलेट मिशन का संचालन किया जा रहा है जिसमें मिलेट के लिए 73 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

मंत्री गणेश जोशी ने कहा आज उत्तराखण्ड का मिलेट एक ब्राण्ड के रूप में स्थापित हो चुका है। मंत्री ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि मिलेट्स वर्ष के तहत आज कई निजी संस्थाएं, होटल व्यवसाय और उद्योग जगत के कई लोग आगे आकर मिलेट्स को बढ़ावा देने में सहयोग प्रदान कर रहे है। उन्होंने बताया दिल्ली में ललित ग्रुप का ललित सूरी होटल के देश के 12 राज्यों में ललित होटलों में श्री अन्न उत्तराखण्ड को एक मीनू के रूप में शामिल किया जा रहा है। मंत्री ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि जिसका वह 19 जुलाई यानी कल दिल्ली में ललित सूरी ग्रुप के होटल के मीनू में का शुभारम्भ करेंगे। मंत्री ने बताया ललित ग्रुप के 11 अन्य राज्यों के होटलों में कार्यक्रम का शुभारंभ उन राज्यों के कृषि मंत्री शुभारंभ करेंगे। इसके अतिरिक्त दिल्ली में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में उत्तराखंड का मिलेट्स और उनके आउटलेट भी लगाए जाएंगे।

मंत्री ने कहा उत्तराखंड में जन झंगोरे का एमएसपी ₹38.92 रामदाना ₹52.35, गहत ₹83.55, भट्ट ₹49.13, राजमा 85.49 सहित कई अन्य फसलों का एमएसपी बढ़ाया गया है। मंत्री ने कहा हम बहुत जल्द ही सोनीपत में पांच हजार मैट्रिक टन का गोदाम हरियाणा राज्य से ले रहे हैं। इस विषय में हरियाणा राज्य के मार्केटिंग बोर्ड के अध्यक्ष द्वारा भी अपनी सहमति प्रदान कर दी गयी है। मंत्री ने कहा किसानों के कृषि उत्पादों को मंडी तक पहुंचाने में माल परिवहन पर 50% सब्सिडी दी जाएगी। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से वार्ता की है और शीघ्र ही कैबिनेट में इस प्रस्ताव लाया जाएगा ।

श्री जोशी ने कहा उत्तराखण्ड की तीन नई मण्डियों (लक्सर, भगवानपुर एवं नरेन्द्रनगर) को ईनाम से जोडने की सहमति भारत सरकार से मिल चुकी है। इस तरह उत्तराखण्ड की 23 मण्डियों में से 19 मण्डी ईनाम से जुड गयी है, जो कि प्रतिशत के दृष्टिकोण से 82 प्रतिशत है, जो कि पूरे भारत में प्रथम स्थान पर है। आज पूरे भारत में 1381 से ज्यादा मण्डियां ईनाम से जुड गयी है, जो कि विपणन एवं डिजिटल की दुनिया में एक कान्ति से कम नहीं है। मंत्री ने कहा उत्तराखण्ड में सेब एवं टमाटर को लम्बे समय तक संरक्षित रखने के लिए कोल्ड स्टोरों का निर्माण किया जायेगा। कलस्टर आधारित कृषि को उन्नत बीज एवं खाद से बढ़ाने का प्रयास किया जायेगा।

मंत्री गणेश जोशी ने कहा कृषकों की व्यक्तिगत दुर्घटना को सिर्फ 6 माह पूर्व जिसको 1.5 लाख किया गया था अब कृषक मृत्यु पर 2.5 लाख रूपये का मुआवजा दिया जायेगा। उन्होंने कहा कृषक उपहार योजना को उत्तराखण्ड की 23 मण्डियों में लागू कर दिया गया है। जिस किसान की उपज जितनी अधिक बार मण्डी में आयेगी उसको प्रथम द्वितीय एवं तृतीय पुरूस्कार प्रथम 20 हजार, 15 हजार एवं 10 हजार पारितोष के रूप में प्रदान किये जायेगें। मंत्री श्री जोशी ने कहा कोसाम्ब संस्था द्वारा न केवल उत्तराखण्ड बल्कि पूरे भारत की मण्डियों में विपणन की सुदृढ प्रणाली से एक नया आयाम एवं नया उद्देश्य स्थापित किया जा रहा है। मंत्री ने कहा श्री अन्न को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कल आयोजित होने वाले कार्यक्रम में ललित ग्रुप और उत्तराखंड सरकार के साथ एक अनुबंध भी किया जाएगा। मंत्री ने कहा अन्य लोग भी हमसे संपर्क कर रहे है। मंत्री ने कहा उत्तराखंड का मिलेट स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत लाभदायक है। कृषि मंत्री जोशी ने भरोसा जताते हुए कहा कि निश्चित ही उत्तराखंड का मिलेट को आने वाले समय में अंतरराष्ट्रीय पहचान मिलेगी।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *