जब देश सुरक्षित रहेगा, तभी हर देशवासी का हित सुरक्षित रहेगा : मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र के अहमदनगर और कर्नाटक के कोप्पल में आयोजित विशाल जन-सभाओं को संबोधित किया जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टीकरण की राजनीति कर महाराष्ट्र में विकास को बाधित करने वाली कांग्रेस, एनसीपी और जेडीएस पर करारा प्रहार किया।
श्री मोदी ने कहा कि बीते 5 वर्ष में जनभागीदारी से चलने वाली एक मज़बूत, निर्णय लेने वाली सरकार, दुनिया ने भारत में देखी है। उससे पहले 10 वर्ष तक घोटाले, घपले और फैसले ना ले पाने वाली सरकार को भी दुनिया ने अच्छी तरह परखा है। अब आपको तय करना है कि ईमानदार चौकीदार चलेंगे या फिर भ्रष्टाचारी नामदार। हिन्दुस्तान के हीरो चलेंगे या पाकिस्तान के पैरवीकार। जब कांग्रेस-एनसीपी की सरकार थी तो देश सिर्फ घाव ही झेलता था। कभी मुंबई में, कभी यहां पड़ोस में पुणे में धमाके होते थे। आए दिन बम धमाके, आए दिन हमले होते थे। कभी ट्रेनों में, कभी बस स्टेशन में।
प्रधानमंत्री ने कहा कि इस चौकीदार ने आतंक के सरपरस्तों में ये डर बिठाया है कि उनकी एक भी गलती भी उन्हें भारी पड़ेगी। ये चौकीदार उन्हें पाताल से भी खोजकर निकाल लाएगा औऱ उन्हें सज़ा देगा। याद करिए, पहले जो सरकार थी, वो पाकिस्तान के सामने, दुनिया के सामने कैसे कमजोर सी लगती थी। हमारे जवान बदला लेने की मांग करते थे, सरकार को सांप सूंघ जाता था। चौकीदार की सरकार, पाकिस्तान में आतंकियों के घर में घुसकर मारने के लिए अपने सपूतों को इजाज़त देती है। कांग्रेस-एनसीपी ऐसे लोगों के साथ खड़े हैं जो कह रहे हैं कि जम्मू कश्मीर को भारत से अलग कर देंगे। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री बना देंगे। कांग्रेस जम्मू-कश्मीर से सेना हटाने की बात कर रही है। कांग्रेस कह रही है कि जवानों को मिला विशेष अधिकार हटा देगी। श्री मोदी ने कहा कि मैं महाराष्ट्र और देश के फर्स्ट टाइम वोटर से भी पूछना चाहूंगा। क्या देश की सुरक्षा पर पहले की सरकारों का कमजोर रवैया उन्हें मंजूर है? क्या राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता उन्हें मंजूर है? क्या 21वीं सदी का भारत ऐसे कमजोर देश के तौर पर होनी चाहिए। जब देश सुरक्षित रहेगा, तभी हर देशवासी का हित सुरक्षित रहेगा, देश का भविष्य सुरक्षित रहेगा। मुझे खुशी है कि पूरा देश, राष्ट्र रक्षा के लिए एक सुर में बात कर रहा है। यही विश्वास मेरी ताकत रहा है, जिसके दम पर मैं बड़े और कड़े फैसले ले पाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि कल 11 अप्रैल को महात्मा ज्योतिबा फुले की जन्म-जयंती थी। ‘फुले – शाहू – आंबेडकर विचारधारा’ को कार्य रूप देने के लिए उस तरह का हृदय आवश्यक होता है। ऐसा हृदय व्यक्तिगत स्वार्थ और परिवार के स्वार्थ की राजनीति करने वालों में नहीं हो सकता। पानी को लेकर इस एनडीए की सरकार का काम आपके सामने है। देवी अहिल्याबाई होल्कर ने जिस तरह गांव-गांव कुएं और बावड़ियां खोलने का अभियान छेड़ा था, उसी तरह यहां की हमारी सरकार भी काम कर रही है। हमारा प्रयास है कि नदियों का पानी जो कोंकण के समंदर में बह जाता है, उसका सदुपयोग हो पाए। श्री मोदी ने कहा कि एक तरफ हमारे संकल्प हैं वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस-एनसीपी के ढकोसले हैं। एक तरफ पानी के लिए महायुति सरकार के काम हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस सरकार में हुए घोटाले और अजित पवार के शर्मनाक बयान हैं। अब जनता ने ही नया नारा दे दिया है- कांग्रेस हमेशा के लिए हटाओ। श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस, एनसीपी और जेडीएस राष्ट्रवादियों और राष्ट्र की रक्षा करने वालों के खिलाफ हैं। ये लोग, भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगाने वालों के साथ खड़े हैं। ये लोग, जम्मू कश्मीर को जो भारत से अलग करने वालों समर्थक हैं, उनके खड़े हैं। इनके पास सुल्तान के उत्सव के लिए पैसा है, लेकिन हंपी के गौरव को याद करने के लिए इनके पास पैसे कम पड़ जाते हैं। प्रधानमंत्री ने देश की जनता को आगाह करते हुए कहा कि सिर्फ और सिर्फ कुछ वोट जुटाने के लिए जो हमारे सपूतों के शौर्य का सबूत मांगते हैं, उनसे सावधान रहना ज़रूरी है। कांग्रेस और जेडीएस की भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी की नीयत ही है जिसको कर्नाटका का किसान भी भुगत रहा है। आज क्या कारण है कि कर्नाटक का बहुत बड़ा इलाका पानी की बूंद-बूंद के लिए तरस रहा है। तुंगभद्रा और अलामट्टी जैसे बड़े डैम होने के बावजूद ये क्षेत्र इतना प्यासा क्यों है? 24 घंटे के भीतर सभी किसानों की कर्जमाफी का वायदा किया था, उसका क्या हुआ?

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *