उत्कर्ष योग का एक ही नारा घर – घर हो स्वास्थ शिक्षित संस्कारवान हमारा-डाँ सत्येन्द्र सिह

दिल्ली।उत्कर्ष योग तिकोना पार्क आर के पुरम सेक्टर 8 नई दिल्ली मे सुप्रसिद्ध योग गुरु एवं मोटिवेशनल स्पीकर डॉक्टर सत्येंद्र सिंह नियमित रूप से कई लोगों को योग संस्कार व व्यवहार की निःशुल्क शिक्षा दे रहे हैं ।ज्ञात हो डॉक्टर सत्येंद्र जी भारत सरकार में उच्च अधिकारी होने के साथ-साथ समाज के अनेक सामाजिक आयोजनों में अपने प्रेरणाप्रद विचारों के माध्यम एवं लेखों के माध्यम से समाज को ज्ञान के साथ-साथ सकारात्मक रहने की ओर जोर देते हैं ।डॉक्टर सत्येंद्र सिंह जी एक सरल स्वभाव मृदुभाषी के साथ-साथ समाज की गतिविधियों में हमेशा सतत प्रयासरत रहते हैं ।उनके द्वारा कई वर्षों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य शिक्षा संस्कार व व्यवहार की शिक्षा दी जा रही है।

समाजिक सरोकारो से सतत जुड़े डॉ सत्येन्द्र सिंह) जी के योग (शिविर) में प्रतिदिन के तरह आज भी योग शिविर के बाद
गुरुजी डॉ सत्येन्द्र जी ने प्रवचन के बाद योग साधक श्री राम किशन जी के जन्म दिन पर उनको बधाई दी। गुरु जी ने बिल्कुल अलग ही तरीके जन्म दिन मानने का संदेश दिए,उन्होंने कहा की हम लोगों को जन्म दिन के अवसर पर मोम बत्ती नहीं बुझानी चाहिए, बल्कि घी का दीपक जलाकर जन्म दिन मनाया जाना चाहिए और इस अवसर पर घर के बुजुर्गो को नये परिधान देकर उनके हाथों से असहाय लोगों को दान दिलवाना चाहिए। आज उनके शिविर में योग साधक श्री किशन व उनकी पत्नी योग साधिका श्रीमती राधिका भी उपस्थित थीं। उत्कर्ष योग का लाभ गिनाते हुए श्रीमती राधिका ने कहा उनके पति की प्ररेणा से वह इतनी सर्दी में योग शिविर में आ रही हैं।
इससे पहले योग साधिका श्रीमती विनीता ने श्री राम किशन को जन्म दिन की बधाई दी।
योग साधक श्री निरंजन ने अपने विचारों से अवगत कराते हुए योग से उन्हें कितने कैसे लाभ प्राप्त हुए इसका वर्णन किया । उन्होंने योग साधकों की सतत उपस्थित की सराहना की।
कड़ाके की सर्दी के बावजूद उत्कर्ष योग के साधकों एवं साधिकाएं द्वारा हिम्मत एवम् विश्वास देखते ही बनता है।

यह शक्ति, हिम्मत, हौसला, हमारे गुरुजी डॉ. सत्येन्द्र सिंह जी की देन है जो कि 365 दिन उत्कर्ष योग के लिए निशुल्क शिक्षा देने के लिए सर्दी, गर्मी, बरसात,में तत्पर लगातार दस वर्ष से यह उत्कर्ष योग शिविर को चलाते आ रहे हैं। इस सराहनीय कार्य के लिए ईश्वर से उनकी लम्बी आयु की कामना करता हूं ।
दुर्गा उत्कर्ष योग साधक
तिकोना पार्क
आर के पुरम नई दिल्ली से

“उत्कर्ष योग का एक ही नारा घर – घर हो स्वास्थ शिक्षित संस्कारवान हमारा”

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *