वृद्धा की मौत के 18 घंटे बाद पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम।

(चन्द्रमोहन जदली) राज्य प्रभारी, उत्तराखण्ड। वृद्धा की क्वारन्टीन में मौत, 18 घण्टे के बाद पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम। पौड़ी ज़िले के रिखणीखाल विकासखण्ड के ग्राम रेवा में कल शनिवार शाम लगभग पाँच बज़े गाँव के उच्च माध्यमिक विद्यालय में क्वारन्टीन में रह रही एक वृद्धा (गायत्री देवी पत्नी स्वर्गीय भीम सिंह )की अचानक हुई मौत से क्षेत्रीय ग्रामीणों में भय व्याप्त है। मृतक वृद्धा के पोते संदीप रावत ने अमर संदेश संवाददाता को बताया कि 12 मई को दिल्ली के बुराड़ी से वे अपनी दादी गायत्री देवी, पत्नी स्वर्गीय भीम सिंह ,अपनी पत्नी ऋतु रावत व अपने चचेरे भाई राहुल के साथ अपने गाँव रेवा में निजी वाहन से पहुँचे थे। जहाँ उन सभी को ग्राम प्रधान द्वारा राजकीय प्राथमिक उच्च विद्यालय के क्वारन्टीन केंद्र में रखा गया था। सभी सदस्य पूरी तरह से स्वस्थ थे। परंतु शनिवार की शाम पांच बज़े अचानक दादी (गायत्री देवी) की उल्टियाँ होने लगी व कुछ ही देर में दादी ने दम तोड़ दिया। ग्राम प्रधान मनोज रावत ने बताया कि वृद्धा की आकस्मिक मृत्यु की सूचना उन्होंने नोडल अधिकारी प्रदीप गुसाईं व राजस्व पटवारी वीरेंद्र नेगी को तुरन्त दे दी थी। परन्तु आज अपराह्न प्रातः 11बज़े तक स्वास्थ्य विभाग की टीम मृतक की जाँच हेतु नहीं पहुंच पाई थी। स्वास्थ्य विभाग की टीम के बहुत देर से पहुंचने पर क्षेत्रीय ग्रामीणों में गहरा आक्रोश है। रिखणीखाल के क्षेत्र पँचायत प्रमुख मनोहर लाल देवरानी ने बताया उन्होंने तुरन्त स्वास्थ्य विभाग व खण्ड विकास अधिकारी को घटनास्थल पर पहुंच कर मृतक की जांच के निर्देश दे दिये थे। यदि स्वास्थ्य विभाग वहाँ पहुँचने में लापरवाही करता है तो उस पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। मुख्य चिकित्साधिकारी व उपजिलाधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम रेवा गाँव में पहुँच मृतक की जाँच कर रही है व अन्य क्वारन्टीन लोगों के स्वास्थ की जांच के लिये क्षेत्रीय प्रशासन को निर्देशित किया गया है।
हिल्स डेवलपमेंट मिशन के चैयरमेन रघुबीर बिष्ट ने प्रशासन पर लापरवाही व मृतका की जाँच में अनावश्यक देरी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि इस राष्ट्रीय आपदा में सभी विभागों को आपस में सामंजस्य स्थापित कर इन चुनौतियों का सामना करना चाहिए। सोशल डिस्टेनसिंग के नियमों के पालन के साथ साफ़ सफाई के प्रति जागरूक हो कर ही हम एकजुट हो कर इस गंभीर बीमारी के संकट से उभर सकते हैं।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *