सुनील मेहता ने नेत्रहीन बच्चों को स्कूल की वर्दियां प्रदान की

इस अवसर पर बात करते हुए सुनील मेहता ने कहा कि व्यापक पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जिम्मेदार और उत्तरदायी बैंकिंग के तहत भारत सरकार की ईएएसई (उन्नत पहुंच और उत्कृष्ट सेवा) पहल के साथ बैंक स्केयर, सेक्टर 17-बी, चंडीगढ़ में हरियाणा का पहला केन्द्रीय ऋण प्रसंस्करण केंद्र (सीएलपीसी) खोला गया, जिसका  उद्घाटन पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील मेहता द्वारा बैंक के पुराने और सम्मानित ग्राहकों, चंडीगढ़ और पंचकुला की सभी पीएनबी शाखाओं के शाखा प्रमुखों, अन्य कर्मचारियों तथा आम जनता के बीच किया गया। उद्घाटन समारोह में आलोक श्रीवास्तव, अंचल प्रबंधक, पीएनबी, चंडीगढ़ और हरियाणा अंचल, के बी सिंह, उप अंचल प्रबंधक, पीएनबी, चंडीगढ़ और हरियाणा अंचल, एस के बजाज प्रमुख मण्डल पीएनबी, चंडीगढ़ मंडल  तथा पीएनबी के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी भाग लिया।

परिवर्तन प्रयोग और बैंक के विज़न “परिवर्तन” के तहत, केन्द्रीय ऋण प्रसंस्करण केंद्र (सीएलपीसी) के लिए मॉडल और ढांचे को पीएनबी में संकल्पनाबद्ध किया गया है जो कि भारत सरकार के ईएएसई कार्यक्रम के अनुरूप है जिसमें उन्नत उत्तरदायित्व के लिए स्वीकृति से पहले तथा स्वीकृति के बाद भूमिकाओं और जिम्मेदारियों के सख्त अलगाव पर जोर दिया गया है। श्री मेहता ने आगे कहा कि ऋण मूल्यांकन, उधार और निगरानी बैंकिंग उद्योग की महत्वपूर्ण व्यावसायिक गतिविधि है और इस दिशा में, हमारे बैंक ने ऋण वितरण में उच्च उत्पादकता बढ़ाने हेतु टीएटी, गुणात्मक ऋण आकलन और कुशल निगरानी सुनिश्चित करने के लिए सीएलपीसी बनाया है। श्री मेहता ने कहा कि सीएलपीसी एक स्वतंत्र समर्थन और कार्य आउटलेट के रूप में काम करेगा जिसमें पूर्व-स्वीकृति मूल्यांकन, अनुमोदन और स्वीकृति के बाद प्रभावी फॉलो-अप/ रु 50.00 लाख से अधिक ऋण खातों की निगरानी के साथ ऋण प्रोसेसिंग सेल और ऋण निगरानी सेल शामिल है। सीएलपीसी इसके साथ जुड़े शाखा कार्यालयों और सीएलपीसी चंडीगढ़ के साथ जुड़ी चंडीगढ़ और पंचकुला की सभी पीएनबी शाखाओं से लीड प्राप्त करेगा।

श्री मेहता ने नेत्रहीन स्कूल, सैक्टर 26, चण्डीगढ़ का भी दौरा किया तथा बैंक की सीएसआर गतिविधि के तहत वहां पर नेत्रहीन बच्चों को स्कूल की वर्दियां प्रदान की। स्कूल द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान श्री मेहता ने अपने संबोधन में पीएनबी की ओर से उनकी शिक्षा के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया। श्री मेहता ने चंडीगढ़ में पीएनबी स्टाफ और अधिकारियों की टाउन हॉल में आयोजित बैठक को संबोधित किया तथा उन्हें प्रोत्साहित किया। उन्होंने नियत समय अवधि के भीतर इसे प्राप्त करने के लिए बैंक की कार्य योजना और रणनीतियों पर चर्चा की।

श्री मेहता ने कहा कि पीएनबी के ग्राहकों को हमेशा अपने बैंक पर पूर्ण विश्वास है, जो हम अपनी कड़ी मेहनत,  सर्वोत्तम प्रयासों,  ईमानदारी और निष्ठा से बरकरार रखेगें। हमें डिजिटल लेनदेन के लाभों के बारे में अपने ग्राहकों को शिक्षित करने के लिए सर्वोत्तम प्रयास करना होगा।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *