कोरोना काल में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना गरीबों के लिए वरदान साबित हुई—जे पी नड्डा

नई दिल्ली, । भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा ‘कोई भी भूखा ना सोए’ की भावना से शुरु की गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत आज 80 करोड़ लोगों को प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं या चावल और एक किलो दाल मुफ्त मिलती है और यह योजना मार्च 2020 में शुरु की गई थी जो अब तक चल रही है। आगे भी चलती रहेगी।

उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा असर कोरोना काल के दौरान देखने को मिला जब कोविड की वजह से लोगों की नौकरियां चली गई थीं, लेकिन बावजूद इसके हर एक व्यक्ति इज्जत के साथ घर में दो वक्त का खाना बड़े आराम से इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले अनाज से खा रहा था।

आज प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता की उपस्थित के दौरान गांधी नगर में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लाभार्थियों से संवाद करते हुए श्री जे पी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपनी कुशल नीतियों से कोरोना काल के दौरान देश में गरीबी नहीं बढ़ने दी। दूसरे देशों के नेताओं ने भी माना और कहा कि हमें भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से सीखना चहिए कि जब कोई भी बीमारी या महामारी आती है तो उस वक़्त सिर्फ दवा देना जरूरी नहीं होता बल्कि दवा के साथ-साथ लोगों की आर्थिक रूप से चिंता करना भी जरूरी होता है। गरीब कल्याण योजना के तहत प्रधानमंत्री ने जो रास्ता दिखाया है उसपर अन्य देशों को भी चलना चाहिए।

श्री नड्डा ने कहा कि आज कोरोना से भयंकर लड़ाई के बावजूद हम अगर मास्क नहीं पहन रहे हैं, तो इसका एकलौता कारण माननीय प्रधानमंत्री का कुशल नेतृत्व है जो सिर्फ नौ महीनों के अंदर कोरोना के दो वैक्सीन ही नहीं बल्कि अब बूस्टर डोज भी लगाई जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जहां सब लोग मिलकर एक-दूसरे की सहायता कर रहे थे तो वही दूसरी तरफ विपक्ष वैक्सीन को बेअसर और भाजपा की वैक्सीन बताने में लगा हुआ था। कुछ लोगों ने तो वैक्सीन के खिलाफ लोगों के अंदर डर पैदा करने की भी कोशिश की, लेकिन सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी भारत के वैक्सीन की मांग बढ़ी और असरदार साबित हुई।

श्री जे पी नड्डा ने कहा कि समाजिक न्याय पखवाड़ा के अंतर्गत आज भाजपा का हर एक कार्यकर्ता घर-घर जाकर इस बात को सुनिश्चित कर रहा है कि देश के 80 करोड़ जनता को अनाज मिल रहा है या नहीं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भी आज हर एक कार्यकर्ता 74 लाख जनता तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत अनाज मिल रहा है या नहीं इस बात को सुनिश्चित कर रहा है।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत 26 मार्च 2020 को शुरु की गई थी जब पूरा देश कोरोना जैसी भयावह बीमारी के चपेट में था। तब से लेकर सितंबर 2022 तक पूरे देश के 80 करोड़ एवं दिल्ली की 74 लाख जनता को मुफ्त में पांच किलों प्रतिमाह अनाज मिलेगा। यह योजना प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की संवेदनशीलता का प्रमाण है जो कि विश्व की सबसे बड़ी अन्न योजना है।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान जहां दिल्ली सरकार और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता घरों में छुपकर बैठे थे वही पर भाजपा कार्यकर्ता अपनी जान की बाजी लगाकर सेवा ही संगठन की भावना से घर-घर जाकर ना सबका हाल पूछ रहे थे बल्कि उनकी आर्थिक मदद भी कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जरुरतमंदों को अनाज देना, भोजन देना, दवाएं एवं ऑक्सीजन की भी व्यवस्था करने का काम भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत जरुरतमंदों की आगे बढ़कर सहायता की।

इस मौके पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विरेन्द्र सचदेवा, विधायक श्री ओम प्रकाश शर्मा, श्री अभय वर्मा, श्री अनिल वाजपेयी, प्रदेश भाजपा ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष श्री संतोष पाल, जिला अध्यक्ष श्री रामकिशोर शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *