पीएनबी ने पीएनबी रक्षक प्लस योजना के लिए भारतीय वायुसेना के साथ करार किया

पीएनबी अपनी प्रमुख योजना पीएनबी रक्षक प्लस के तहत वायु सेना, रक्षा सेवाओं व सेवानिवृत्त वायु सेना पेंशनर्स को दे रही है व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा व वायु दुर्घटना बीमा

नई दिल्ली, जुलाई 06, 2022: सार्वजनिक क्षेत्र में देश के अग्रणी बैंकों में से एक पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) ने बैंक की प्रमुख योजना पीएनबी रक्षक प्लस के तहत रक्षा कर्मियों को विशेष तौर पर तैयार किए गए उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

इस योजना में अन्य चीजों के साथ ही सैन्य बलों, केंद्रीय पुलिस सैन्य बलों, राज्य पुलिस बलों, मेट्रो पुलिस में सेवारत, सेवानिवृत्त व प्रशिक्षुओं के साथ ही सेवानिवृत्त पेंशनर रक्षा कर्मियों के लिए वैयक्तिक दुर्घटना बीमा व वायु दुर्घटना बीमा शामिल है।

समझौता ज्ञापन का आदान प्रदान पीएनबी के एमडी एवं सीईओ श्री अतुल कुमार गोयल और भारतीय वायु सेना की ओर से चीफ आफ एयर स्टाफ, एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी, पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएम, एडीसी के बीच दिल्ली के भारतीय वायु सेना आडीटोरियम में एक समारोह में किया गया।

चीफ आफ एयर स्टाफ, एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी, पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएम, एडीसी ने पीएनबी के साथ जुड़ने पर कृतज्ञता ज्ञापित किया।

इस गठजोड़ पर प्रतिक्रिया देते हुए पीएनबी के एमडी एवं सीईओ, श्री अतुल कुमार गोयल ने कहा “यह एक एतहासिक क्षण है जो पीएनबी परिवार को देश की सेवा का अवसर प्रदान कर रहा है। वर्तमान में पीएनबी सैन्य बलों को देश भर में फैले 120 कैंटोन्मेंट शाखाओं के जरिए सहयोग प्रदान कर रहा है। इनमें से नौ को शहीदों के सम्मान में विशेष शाखाओं के रुप में परिवर्तित किया गया जो सैन्य बलों के कर्मियों का उचित ध्यान रख रही हैं उदाहरण के लिए जालंधर में हमारी शहीद शाखा को फ्लाइंग आफिसर निर्मलजीत सिंह सेखों, पीवीसी (मरणोपरांत) का नाम दिया गया है सुदूर और सामान्य पहुंच से दूर रह रहे हमारे वीर जवानों व उनके परिवारों की वित्तीय जरुरतों का ख्याल पीएनबी के देश भर में फैली शाखाएं रख रही हैं। इसके अतिरिक्त हम अपने योद्धाओं के लिए और भी एटीएम, डिजिटल व डोरस्टेप बैंकिंग सेवाएं शुरु करना चाहते हैं। यह गठजोड़ भारतीय वायुसेना और इसके वेटरन्स के बीच पीएनबी के अटूट संबंधौं को और मजबूत करेगा।“

पीएनबी रक्षक प्लस की मुख्य विशेषताओं में शामिल है……
• व्यक्तिगत दुर्घटना (मृत्यु) बीमा कवर 50 लाख रुपये तक
• वायु दुर्घटना (मृत्यु) बीमा कवर 100 लाख रुपये तक
• व्यक्तिगत दुर्घटना (पूर्ण रुप से अपंगता) कवर 50 लाख रुपये तक
• स्वीप सुविधा –
प्रारंभिक सीमा राशि—- 10000 रुपये
न्यूनतम स्वीप इन/आउट — 1000 रुपये
गुणांक 1000 रुपये में
• किसी भी ट्रांजैक्शन पर नो कैश हैंडलिंग चार्जेज जिसका अर्थ है कि देश भर में पीएनबी की सभी शाखाओं घरेलू शाखा मानी जाएगी।
• आखिरी तीन महीने के कुल वेतन/पेंशन के बराबर ओवरड्राफ्ट की सुविधा, 75000 रुपये से तीन लाख रुपये तक
• आवास ऋण, कार, शैक्षिक और व्यक्तिगत ऋणों पर ब्याज दर व सर्विस चार्ज में रियायत
• किसी प्रमुख शिक्षा संस्थान अथवा आर्मी शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेने वाले ब्च्चों के अभिभावकों के प्राथमिक खाता धारक होने की दशा में पीएनबी प्रतिभा स्कीम के तहत शैक्षिक ऋण उपलब्ध
• परिवार के सदस्यों को जीरो बैलेंस बचत खाता खोलने की सुविधा
• लाकर के किराए में रियायत – 25% एनुअल मेनटेनेंस चार्जेज (एएमसी) जारी होने के तीन साल तक माफ
• प्राथमिक खाता धारक की मृत्यु की दशा में दो बच्चों या आश्रितों (लड़का अथवा लड़की) को प्रति वर्ष एक लाख रुपये की वित्तीय सहायता या वास्तविक खर्च जो भी कम हो की वित्तीय सहायता चार वर्षों तक
• असीमित फ्री डीडी/पीओ प्रति फ्री डीडी/पीओ पर 50000 रुपये की सीमा के साथ
• गोरखा कर्मी अपने नेपाल के एवरेस्ट बैंक के लिंक्ड खाते में भारत के पीएनबी खाते से बिना किसी शुल्क के पैसे भेज सकते हैं। यह सुविधा दोनो तरफ के लिए लागू होगी
• खाते में व संबंधित डेबिट/क्रेडिट के हर ट्रांजैक्शन पर फ्री एसएमएस
समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर समारोह में एयर मार्शल के. अनंतरामन, वीएसएम, एयर ऑफिसर इन चार्ज एडमिनिस्ट्रेशन, एयर वाइस मार्शल अशोक सैनी, वीएसएम, पीएनबी के कार्यपालक निदेशक श्री विजय दुबे और पीएनबी के मुख्य महाप्रबंधक श्री सुनील सोनी सहित बैंक और आईएएफ के वरिष्ठ प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।
*********************

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *