पेट्रोलियम क्षेत्र में लाखों नौकरियां सृजित : धर्मेन्द्र प्रधान

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्रं प्रधान ने कुछ योग्यन आवेदनकर्ताओं को आशय पत्र सौंपकर तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) द्वारा नये रिटेल आउटलेट आवंटित करने का कार्य शुरू किया। उन्होंनने बटन क्लि्क करके 2500 से अधिक उम्मीटदवारों को ऑन-लाइन इसकी जानकारी दी, जो ओएमसी के कार्यालयों से अपने-अपने आशय-पत्र ले सकते हैं। साथ ही देश के 12 अन्य स्थाेनों पर ऐसे आशय पत्र जारी किये गये। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों ने 35 राज्योंम/संघ शासित प्रदेशों में रिटेल आउटलेट स्थापित करने के लिए 78,493 स्था नों के लिए विज्ञापन दिया था, जिसके बदले 4 लाख से अधिक आवेदन प्राप्तक हुए। देश भर में पेट्रोलियम उत्पाबदों की पहुंच बढ़ाने के लिए नेटवर्क का विस्तावर तेल विपणन कंपनियों का एक महत्वरपूर्ण कार्य है। विस्ताुर से उन्हेंन अपने बाजार नेतृत्वे को बरकरार रखने और देश के प्रमुख भौगोलिक क्षेत्रों में लोगों की पहुंच बढ़ाने में मदद मिलेगी। ये तेल विपणन कंपनियां वर्तमान में 57,000 रिटेल आउटलेट चला रही हैं।
इस अवसर धर्मेन्द्रं प्रधान ने प्रौद्योगिकी और पारदर्शिता के महत्वल पर जोर दिया। पहली बार चयन ‘’लॉट का ड्रॉ/निविदा खोलने’’ का कार्य कंप्यूाटर के जरिये हुआ, जिसमें किसी तरह का मानव हस्तेक्षेप नहीं था। श्री प्रधान ने कहा कि तेजी से बढ़ती जीडीपी की जरूरतों को पूरा करने के लिए देश में पेट्रोलियम उत्पाहद का उपभोग करीब 4% बढ़ना जारी रहेगा। उन्हों ने कहा कि आजादी के बाद के 60 वर्षों में 13 करोड़ रसोई गैस कनेक्शीन दिये गये और वर्तमान सरकार ने इतने कनेक्शेन पांच वर्ष में दिये हैं। उन्हों ने बताया कि पीएमयूवाई के अंतर्गत 6.75 करोड़ कनेक्शरन गरीब परिवारों को दिये हैं। उन्हों ने बताया कि प्रधानमंत्री अगले सप्ताेह गोरखपुर में करीब 2,000 किलोमीटर लंबी एलपीजी पाईपलाईन की आधारशिला रखेंगे, जिसे गुजरात में कांडला से जोड़ा जायेगा और यह दूनिया की ऐसी सबसे लंबी पाईपलाईन में से एक होगी।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *