तीरथ सिह रावत ने जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति “दिशा” की बैठक कर विभागवार विभिन्न विकासिक कार्यो समीक्षा की

पौड़ी: ।अध्यक्ष जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति ‘‘दिशा‘‘ पौड़ी गढ़वाल सासद श्री तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में आज विकास भवन सभागार, पौड़ी में ‘‘दिशा‘‘ की द्वितीय बैठक आयोजित की गई।इस बैठक में दिशा के अन्तर्गत जनपद में संचालित विभिन्न विकास योजनाओं की कार्य प्रगति पर जानकारी ली, तथा गत बैठक में दिये गये निर्देशों के अनुपालन में कार्य प्रगति की भी समीक्षा की गई। इस अवसर फर उपस्थित गणमान्य सदस्यों,जन प्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत विभिन्न कार्यों को लेकर शिकायत दर्ज की, जिस पर मा. सांसद श्री रावत ने संबंधित अधिकारियों को त्वरित निस्तारण हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। इस मौके पर सांसद ने स्वयं सहायता समूह के उत्पादन/सामाग्री को बाजार क्षेत्र में पहुचाने हेतु छोटा वाहन को विधिवत हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस बैठक के बाद गढवाल सांसद श्री रावत, क्षेत्रीय विधायक मुकेश कोली एवं अन्य गणमान्यों द्वारा कण्डोलिया में इण्डोर स्टेडियम परिसर में आधुनिक जिम का विधिवत उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल एवं अन्य अधिकारियों द्वारा जनपद में किये जा रहे अभिनव कार्यों पर प्रशंसा करते हुए बधाई दी। श्री रावत ने विकास भवन परिसर में स्थापित काॅल सेंटर का निरीक्षण किया। मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई ने काॅल सेंटर के बारे में जानकारी देेते हुए बताया कि जनपद के समस्त नागरिकों को सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ पहुंचाने तथा स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु यह काॅल सेंटर स्थापित किया गया है। काॅल सेंटर में आने वाली काॅल्स का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए त्वरित संबंधित विभाग के साथ समन्वय कर निस्तारण किया जा रहा है।

बैठक में ब्लाॅक प्रमुख जयहरीखाल द्वारा. सांसद तीरथ रावत को अपने क्षेत्रान्तर्गत पीएमजीएसवाई की दो मोटर मार्ग पर गुणवत्ता को लेकर जांच की मांग की, जिस पर सांसद श्री रावत ने जिलाधिकारी को जांच करने के निर्देश दिये। जबकि कही ब्लाॅकों में आधार कार्ड नहीं बनने की शिकायत पर सांसद ने जिलाधिकारी को आधार कार्ड बनाने में आ रही समस्या के निस्तारण करवाने के निर्देश दिये, जिस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि आधार कार्ड बनाये जाने वाले उपलब्ध उपकरणों को शीघ्र उन ब्लाॅकों में स्थापित करने के निर्देश दिये। वहीं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित नन्दा गौरा देवी कन्या धन योजना के अन्तर्गत आवेदन प्रक्रिया की शिकायत पर जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देशित किया कि आवेदन पत्र वितरण के दौरान ही संलग्न होने वाली समस्त जानकारी आवेदनकर्ता को उपलब्ध करायें तथा आवेदन पत्र जमा के दौरान परीक्षण कर ही जमा करायें। साथ ही आंगनवाड़ी में दो या दो कम बच्चों वाले केन्द्रों की जानकारी ली। वहीं समाज कल्याण के ब्लाॅक स्तरीय अधिकारियों की कमी के चलते शिकायत पर जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया कि तैनात अधिकारियांे के रोस्टर बनाकर समस्त ब्लाॅकों में ड्यूटी लगायें। जनप्रतिनिधियों द्वारा मानसिक दिव्यांगों के प्रमाण पत्र को लेकर शिकायत पर जिला समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि जनपद में पहली बार जिलाधिकारी की पहल पर सप्ताह में दो दिन मेडिकल काॅलेज श्रीनगर में मानसिक रूप से दिव्यांगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। साथ ही उनके आवागमन आदि की व्यवस्था समाज कल्याण विभाग द्वारा किया जा रहा है। .इस मौके पर सांसद श्री रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की कार्यप्रगति की जानकारी ली, जिस पर मुख्य कृषि अधिकारी ने बताया कि जनपद में 66 हजार 500 पंजीकृत किसानों में से लगभग 63 हजार किसानों को प्रथम किश्त, 59 हजार 204 को द्वितीय, 56 हजार 567 को तृतीय, 50 हजार 746 को चैथी, 48 हजार 339 को पंचवी तथा 46 हजार 596 को छठी किश्त दे दी गई है। उन्होंने भारत सरकार द्वारा जारी कृषि उत्पाद बिल का वृहद् स्तर पर प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। प्रधानमंत्री जी के ड्रीम प्रोजेक्ट ‘जल जीवन मिशन‘ के समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि प्रथम चरण में एफएचटीसी(फंक्शनल हाॅउस होल्ड टेप कनेक्शन) के तहत कार्य गतिमान है। द्वितीय चरण में पानी की मात्रा पर कार्य किया जायेगा तथा तृतीय चरण में पीने योग्य शुद्व पेयजल मुहैया कराया जायेगा। उन्होंने स्वजल विभाग अन्तर्गत नव निर्मित शौचालयों की धनराशि शीघ्र आंवटित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने शिक्षा विभाग से बच्चों के लिए ड्रेस, किताबों की आंवटित धनराशि की जानकारी ली। मुख्य चिकित्सा अधिकारी से उन्होंने कोविड-19 को लेकर जानकारी ली, जिस पर सीएमओ ने बताया कि जनपद में लगभग 63 हजार सैम्पिलिंग हो चुकी है, जिसमें से लगभग 61 हजार के परिणाम आ चुके हैं। सांसद श्री तीरथ सिंह रावत ने निर्देशित किया कि पीएमजीएसवाई के अन्र्तगत जिन सड़कों का निर्माण कार्य ठेकेदारों को नोटिस देने के बाद भी पूरा नहीं किया जा रहा है, उन्हें ब्लैक लिस्ट किया जाय। वहीं जलागम, उद्यान, डिजिटल इण्डिया, उज्जवला योजना, समेकित बाल विकास योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, लो.नि.वि., स्वास्थ्य सहित अन्य विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी ली।

एपीडी सुनील कुमार द्वारा बैठक का संचालन किया गया। उन्होंने प्रोजेक्टर के माध्यम से समस्त विभागों द्वारा की गई कार्य प्रगति की जानकारी दी तथा गत बैठक में दिये दिशा-निर्देश के अनुपालन में की गई कार्यवाही से भी अवगत कराया। जबकि जनपद में विभिन्न विभागों द्वारा किये गये विकासपरक कार्यों से मा. सांसद को अवगत कराया गया, जिस पर मा. सांसद एवं उपस्थित जन प्रतिनिधियों द्वारा जिलाधिकारी एवं विभागीय अधिकारियों की विकासपरक कार्यों की प्रशंसा करते हुए आगे भी इसी तरह विकास कार्य होते रहे, की अपेक्षा की।गढवाल सांसद ने रेल परियोेजना़ एवं सड़क सुरक्षा समिति की भी बैठक ली। इस दौरान उन्होंने सड़क सुरक्षा के संबंध मे संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि सड़क मानकानुसार, गुणवत्ता एवं सुगम सुविधा हो, तभी कार्यदायी संस्था हैण्डओवर करेंगे, तभी सड़क को पास करें। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के साथ जनता की सुविधा भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि शराब पीकर तथा मोबाइल उपयोग के दौरान अधिक दुर्घटनाएं होती है, इसको गंभीरता से लेते हुए निरन्तर छापामारी अभियान चलाते रहें।
जिलाधिकारी ने कहा कि पशुपालन विभाग में सामुहिक कृत्रिम गर्भाधान में बेहतर कार्य किया जा रहा है, जिसमें जिला योजना से भी फंडिंग किया गया है। कहा कि दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में उत्तराखण्ड देश में तीसरे स्थान पर जबकि उत्तराखण्ड में पौड़ी प्रथम स्थान पर है। कहा कि जिला योजना के अन्तर्गत पाॅलीहाउस समूहों को दे रहे हैं, जिसमें करीब 4 हजार परिवार लाभान्वित हो रहे हैं, जो वर्तमान समय में सब्जी उत्पादन का कार्य कर रहे है। कोविड-19 की स्थिति सामान्य होने पर सभी फ्लोरीकल्चर में कार्य कर अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकेंगे।
बैठक में अध्यक्ष जिला पंचायत शांति देवी, विधायक पौड़ी मुकेश कोली, अध्यक्ष नगरपालिका परिषद् पौड़ी यशपाल बेनाम, अध्यक्ष नगर पालिका दुगड्डा भावना चौहान, ब्लाॅक प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र राणा, जयहरीखाल दीपक भण्डारी, कल्जीखाल बीना राणा, एकेश्वर नीरज पांथरी, पौड़ी दीप चन्द्र कुकशाल, नैनीडांडा प्रशान्त कुमार बछवाण सहित प्रधान रमेश चन्द्र, प्रधान गिरीश चन्द्र, अनुज नेगी, अपर जिलाधिकारी डाॅ. एस.के. बरनवाल, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, मुख्य कृषि अधिकारी डी.एस. राणा, मुख्य उद्यान अधिकारी डा. नरेन्द्र कुमार, डीपीआरओ एम.एम. खान सहित संबंधित अधिकारी एवं सदस्यगण उपस्थित थे।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *