विश्व ब्राह्मण फैडरेशन द्वारा ब्राह्मणों के व्यवसायिक संवर्धन हेतु बढाए गए कदम

सी एम पपनैं
,
नई दिल्ली। विश्व ब्राह्मण फैडरेशन द्वारा, ‘ब्राह्मण बिजनिश नेट वर्क’ मीटिंग का आयोजन देश-विदेश के संगठन से जुडे व्यवसायियों व उद्यमियों की उपस्थिति मे, फैडरेशन के संस्थापक चेयरमैन मांगे राम शर्मा के संरक्षण व फैडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे की अध्यक्षता मे, ब्राह्मणों के वैश्विक पटल पर व्यवसायिक संवर्धन व आर्थिक सशक्तिकरण पर, नीति नियोजन हेतु, जूम द्वारा, मीटिंग का आयोजन कर, किया गया। बीज वक्ततव्य ग्लोबल ब्राह्मण बिजनिस नेटवर्क चेयरमैन बी सी त्रिपाठी (गेल संस्थान के पूर्व चैयरमैन) द्वारा व ब्राह्मण बिजनिस परामर्श मंडल सदस्य अजय शर्मा व सुखबीर शर्मा द्वारा फैडरेशन के क्रियाकलापो व भावी योजनाओ के बावत, विचार व्यक्त किए गए।

आयोजित मीटिंग में ब्राह्मण फैडरेशन के राज्य पदाधिकारियो व शहरों, महानगरों व अंतर्राष्ट्रीय पटल पर ब्राह्मण समाज के विभिन्न उद्यमो व व्यवसायों से जुड़े, छोटे-बड़े प्रबुद्ध व्यवसायियों व उद्योगों से जुड़े लोगों द्वारा बडी संख्या मे भाग लिया गया। उक्त उपस्थित जनो द्वारा, पण्डित मांगे राम शर्मा (बाबू जी) को, उनके जन्मदिन पर शुभ कामनाऐ प्रैषित की गई, निरंतर आशीर्वाद प्राप्ति हेतु, पण्डित जी की दीर्घायु की कामना की गई।

आयोजित मीटिंग का विधिवत शुभारंभ, दीपक ज्योति व श्री गणेश वंदना से किया गया। फैडरेशन राष्ट्रीय अध्यक्ष, के सी पांडे द्वारा, संगठन के जूम पर उपस्थित देश-विदेश के सभी पदाधिकारियो व ब्राह्मण व्यवसायियों का अभिनंदन कर, संगठन के उद्देश्यो, क्रियाकलापो व भविष्य की योजनाओं पर सारगर्भित, प्रकाश डाला गया। व्यक्त किया गया, फैडरेशन के बैनर तले, सभी ब्राह्मण समाज के व्यवसायियों व उद्योग जगत से जुड़े लोगों के बीच चेतना जगा, उन्हे राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय फलक पर इकठ्ठा कर, उनके व्यवसायिक संवर्धन व आर्थिक सशक्तिकरण के उद्देश्य हेतु, नीति नियोजन कर, पहल की जा रही है। वैश्विक फलक पर सिद्धरत सभी ब्राह्मणों से आगे आकर, कार्य करने व संगठन को मजबूत करने का आहवान किया जा रहा है।

ग्लोबल ब्राह्मण बिजनिस नेटवर्क चेयरमैन बी सी त्रिपाठी द्वारा बीज वक्तव्य का शुभारंभ करते हुए, व्यक्त किया गया, उनका सौभाग्य, विश्व ब्राह्मण फैडरेशन से जुड कर, उन्हे विचार व्यक्त करने का अवसर प्राप्त हुआ है। व्यक्त किया गया, धर्म, संस्कृति, कला, साहित्य, विज्ञान एव प्रोद्योगिकी, राजनीति तथा शिक्षा के क्षेत्र मे, ब्राह्मणों का अमिट योगदान रहा है। बदलते परिवेश मे, कैसे ब्राह्मण समाज अपने सांस्कृतिक मूल्यों मे बदलाव करे, यह चुनोती है। ब्राह्मण मतलब, ज्ञान देने वाला। इस परिपाठी को जिंदा रखना होगा। ज्ञान के आधार पर, अपने आप को, स्थापित रखा जा सकता है। अनेक प्रबुद्ध ब्राह्मणों ने पहल कर, करोडो रुपयों का व्यवसाय कर, पूंजी कमाने का उदाहरण प्रस्तुत किया है। यह पहल उन्होंने कैसे की, प्रत्येक की अपनी कहानी है, कि कैसे, छोटे व्यवसाय को आगे बढ़ाया। यही विश्व ब्राह्मण फैडरेशन का उद्देश्य है। कैसे आप एक दूसरे के व्यवसाय मे, मदद कर सकते हैं, यह उद्देश्य है। लोगों को शिक्षा व आधुनिक तकनीक, अवगत कराने का उद्देश्य है।

व्यक्त किया गया, आज नए-नए तरीको से व्यवसाय करने के तरीके आ रहे हैं। पुरानी व्यवसाय की तकनीक बदल रही है। यही सब व्यवसाइयों को सिखाना है, जो विश्व ब्राह्मण फैडरेशन से जुडे हुए हैं। हर सैक्टर मे ब्राह्मण फैडरेशन के विशेषज्ञ होंगे। वे व्यवसाय उत्थान व तकनीक के बारे मे बताऐंगे, शेयर करैंगे।

व्यक्त किया गया, ब्राह्मणों के मध्य चार सोच, ब्राह्मण गौरव सोच, राजनैतिक सोच, आर्थिक सोच व शैक्षिक सोच को गरिमामयी तौर-तरीकों व शालीनता से आगे बढाने पर बल देना होगा। नए युवा व्यवसायी आगे आए, सबको सहयोग व महत्व दिया जायेगा। सामाजिक व आर्थिक तोर पर सभी का स्वागत होगा। इस सबसे, देश को स्मृद्धि मिलेगी, ताकत मिलेगी। इस बावत सोचना होगा, मैराथन विचार-विमर्श करने होंगे। बी सी त्रिपाठी द्वारा ब्राह्मण उद्यमियों व व्यवसायियो का आहवान किया गया, वे वैश्विक फलक पर, सफल लोगों की कहानिया, लोगों को बताए। समय की मांग है, मानवीय मूल्यों की रक्षा हेतु ब्राह्मणों को आगे आकर, वैश्विक पटल पर संगठन को विस्तार दे, परचम लहरा, मानव कल्याण हेतु तत्पर रहना होगा। वे सदैव उपलब्ध रहैंगे, उक्त उद्देश्य हेतु।

ब्राह्मण बिजनिस नेटर्वक सलाहकार मंडल सदस्य अजय शर्मा व सुखबीर शर्मा द्वारा व्यक्त किया गया, कि कैसे ब्राह्मण संगठन ब्राह्मणों के व्यवसायिक उत्थान हेतु कार्य कर रहा है। ब्राह्मण समुदाय बहुत बड़ा है।समय की मांग है, मानवीय मूल्यों की रक्षा हेतु ब्राह्मण आगे आकर, वैश्विक फलक पर संगठन को विस्तार दे, परचम लहरा, मानव कल्याण हेतु कार्य करे। राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय फलक पर सामाजिक व्यवहार बढ़ा, समन्वय कर, ब्राह्मण फैडरेशन का निरंतर, विस्तार कर, उसके बैनर तले, व्यवसाय बृद्धि करे। व्यक्त किया गया, उक्त कार्य बृद्धि, सामाजिक दृष्टि से हो, न कि जाति आधारित। व्यवसाय बृद्धि, व्यवसाय को आरम्भ करने के तोर-तरीको व उसके संवर्धन की बारीकियों को भी, उक्त वक्ताओ द्वारा, सारगर्भित विचार व्यक्त कर, व्यवसाईयों के मध्य रखा गया।

विश्व ब्राह्मण फैडरेशन चैयरमैन पण्डित मांगे राम शर्मा द्वारा व्यक्त किया गया, ब्राह्मण फैडरेशन से जुडे, नीतिन कुलकर्णी द्वारा, उदाहरण स्वरूप, प्रभावशाली कार्य किए गए हैं, जो संगठन के लिए एक नजीर है। बी सी त्रिपाठी द्वारा दिया गया, बीज वक्तव्य स्वागत योग्य है, उनके विचार व कथन, ज्ञानवर्धक व प्रेरणादायी हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे, अपने आप मे सक्षम व विविध विधाओ के ज्ञाता हैं। उनकी संगठन के क्रियाकलापो मे अति रुचि व निष्ठा रही है। पांडे जी के कार्यो को परख, उन्हे यथायोग्य समझ, संगठन के अध्यक्ष पद से नवाजा गया है। सामाजिक, आर्थिक व व्यवसायिक क्षेत्रों से जुडे, ब्राह्मणों को, पांडे जी एक मंच पर लेकर आए, जो सबसे बडी उपलब्धि रही है।

व्यक्त किया गया, आज कई महिला लीडर उपस्थित हैं, जो संगठन के लिए गौरव की बात है।
बी सी त्रिपाठी, अजय शर्मा, विनोद शर्मा, कैलाशपति शर्मा, विनय जोशी इत्यादि जैसे प्रतिभावान व्यवसाइयो का जुड़ना सकुन देता है। पण्डित मांगे राम शर्मा ने व्यक्त किया, मेरा मानना है, वैश्विक पटल पर ब्राह्मण अच्छा व्यवसाय कर रहे हैं। किसी भी व्यवसाय में, विद्या ज्ञान सबसे बड़ा है, जो ब्राह्मणों के पास है।
व्यक्त किया गया, लक्ष्मी पूजन जल्दी है, सब लोग इकट्ठा हो, त्यौहार मनाऐ। के सी पांडे जी का विशेष धन्यवाद, कम समय में, बडे काम किए। सुखबीर शर्मा ने भी ब्राह्मणों की मदद की। सबसे करबद्ध प्रार्थना है, एक मंच पर आऐ, विश्व ब्राह्मण फैडरेशन को बड़ा मंच देवे।

अन्य व्यवसायियो मे, विचार व्यक्त करने वालो मे प्रमुख थे, प्रो.भारत लोहानी, विनोद शर्मा, के एन पुष्पलता, नितिन कुलकर्णी, कैलाशपति शर्मा, नवीन बाली इत्यादि।

उक्त वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, सबको अपनी कम्युनिटी को समय देना होगा। व्यवसाय बढ़ाने हेतु पारदर्शी बन, वैश्विक पटल पर कामयाबी हासिल की जा सकती है, जिसके लिए सम्पर्क बढ़ा, व्यवसायिक नेटवर्क को निरंतर बढ़ाना होगा। वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, ब्राह्मणों मे बहुत प्रतिभा है, जिन्हे सम्मान देकर, सही निर्णय लेकर, संगठन को विस्तार दिया जा सकता है।जातिवाद पर व्यवसाय नही चल सकता। हम कैसे स्वस्थ समाज को स्वस्थ व्यवसाय का स्वाद दे सकते हैं, यह सोच, संगठन से जुड़े व्यवसायियों को चरितार्थ करनी होगी, जो संगठन की भविष्य की समृद्धि का मार्ग प्रशस्त करेगी।

इस अवसर पर, विश्व ब्राह्मण फैडरेशन के वैश्विक फलक पर, ‘ब्राह्मण बिजनिस नेटर्वक’ अठारह सदस्यीय परामर्श मंडल व चार ज्योतिरविद एवम याज्ञविक पहल मंडल के सदस्यों के नामों की सूची, राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे द्वारा जारी की गई। उक्त 18 सदस्यों की सूची मे पण्डित बी सी त्रिपाठी, पण्डित अजय शर्मा, पण्डित विनोद शर्मा, पण्डित के पी शर्मा, पण्डित जे पी आचार्य, पण्डित एस वेणु गोपालन, पण्डित के वी सुब्रमन्यम, डाॅ. आजाद कोशिक, डाॅ. दिवाकर शुक्ल, डाॅ.ओम शर्मा, डाॅ. वी आर पंचमुखी, डाॅ. नितिन कुलकर्णी, प्रो.रामकृष्ण पांडे, प्रो.भरत लोहानी, पण्डित पवन शर्मा, पण्डित शशिकांत शर्मा, पण्डित सुखबीर शर्मा, पण्डित सुरेश पांडे को स्थान दिया गया है। चार सदस्यों के परामर्श मंडल मे डाॅ.वी सी पंचमुखी, डाॅ. श्रैयांश दिवेदी तथा डाॅ.जी एस आर कृष्णमूर्ति का नाम है। सलाहकार मंडल संयोजक विश्व ब्राह्मण फैडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे होंगे।

मीटिंग के समापन पर राष्ट्रीय अध्यक्ष के सी पांडे द्वारा व्यक्त किया गया, गठित ब्राह्मण फैडरेशन सही दिशा की ओर बढ़ रही है, चाहे वह संगठनात्मक दृष्टि से हो या सामाजिक दृष्टि से या फिर व्यवसायिक दृष्टि से। पंडित मांगे राम शर्मा (बाबू जी) का मार्ग दर्शन व आशीर्वाद संगठन के लिए, सदैव अपेक्षित रहेगा। पण्डित मांगे राम शर्मा की लम्बी आयु की भी कामना की गई। मीटिंग से जुडे सभी उद्यमियों, व्यवसायियो व आई टी सैल से जुडे कृष्णन तिवारी सहित सभी अन्य सहयोगियों का समय व सहयोग देने हेतु आभार व्यक्त करने के साथ ही, चैयरमैन पण्डित मांगे राम शर्मा की अनुमति से, मीटिंग समाप्ति की घोषणा की गई।
—————

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *