नई दिल्ली नगरपालिका परिषद की कोरोना वायरस के विरुद्ध जंग

नई दिल्ली। दिल्ली नगरपालिका परिषद ने लॉकडाउन अवधि के दौरान विभिन्न लोगो के संकट को कम करने के लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाओ, कार्यक्रमों और सुविधाओं को शुरू किया ।कोरोना वायरस महामारी फैलने के कारण हुए लॉकडाउन की अवधि के दौरान, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (NDMC) ने पुलिस बल के जवानों, चिकित्सा कर्मचारियों, आपदा प्रबंधन में जुटे अधिकारी एवम कर्मचारियों, बेघर लोगों और वृद्ध, विकलांग एवम विधवा पेंशनरों के लिये इस संकट में बेहतर रहन सहन और आजीविका की दशाओं में सुधार प्रदान करने के लक्ष्य से विभिन्न कल्याणकारी योजना, कार्यक्रम और सुविधाओं को शुरू किया है ।
पालिका परिषद ने अपने सरोजनीनगर के बारातघर और पालिका धाम के सामुदायिक केंद्र को नई दिल्ली जिला प्रशासन को बेघर लोगों के लिए अस्थायी नाइट शेल्टर होम स्थापित करने के लिए प्रदान किया हुआ हैं।
नई दिल्ली स्थित मंदिर मार्ग और बापू धाम पर बारात घरों को लॉकडाउन प्रबंधन में लगे अतिरिक्त पुलिस बल के जवानों को रहने के लिए दिल्ली पुलिस को प्रदान किया गया है।
इसके अतिरिक्त पालिका परिषद के कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित नौ सामुदायिक केंद्र जैसे – लाल बहादुर सदन, बाबर रोड, उल्लास-लक्ष्मी बाई नगर, पालिका निवास-लोधी रोड, हैली लेन, उत्तर-पश्चिम मोती बाग, आदित्य सदन, कृष्णा मेनन लेन और क्लब दक्ष को नई दिल्ली जिला प्रशासन की आवश्यकता पर आवश्यक सेवाओं पर तैनात अधिकारियों , चिकित्सा कर्मचारियों के रात्रि निवास के लिए भी प्रदान किया जा रहा है।
पालिका परिषद के बाकी आठ बारात घरों को डीएम, नई दिल्ली जिला / अध्यक्ष, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को उनकी आवश्यकता के उपयोग के लिए अलर्ट पर आरक्षित रखा गया है।एनडीएमसी कर्मचारियों के लिए, लॉकडाउन अवधि के दौरान मौजूदा मेडिकल कार्ड पर 31.03.2020 पर सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के लिए चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा योजना के विस्तार को 30.4.2020 तक देने का प्रस्ताव प्रक्रियाधीन है।
और चिकित्सा दावों की प्रतिपूर्ति में छूट के संबंध में एक प्रस्ताव, इस लॉकडाउन अवधि के दौरान अस्पतालों, उपचार करने वाले डॉक्टरों के पास जाए बिना चिकित्सा स्वास्थ्य योजना में लाभार्थियों (एनडीएमसी कर्मचारी)के लिये 30.04.2020 तक वैध करने के लिये भी एक प्रस्ताव प्रक्रियाधीन है।
पालिका परिषद कर्मचारियों और पेंशनरों को कोविड-19 ( कोरोना वायरस संक्रमण ) महामारी का उपचार प्रदान करने वाले नामित अस्पतालों की जानकारी के बारे में एक अधिसूचना परिपत्र जारी भी कर दिया गया है।
पालिका परिषद द्वारा 1359 लाभार्थियों को वृद्धावस्था / विधवा / विकलांग पेंशन के रु 6000 / – से रु 7500 / – प्रत्येक की है , वह अवधि जनवरी 2020 से मार्च 2020 तक के लिये जारी की जा रही है , जो कुल मिलाकर लगभग एक करोड़ रुपए की राशि होगी ।पालिका परिषद द्वारा संचालित तीनों वर्किंग गर्ल्स हॉस्टल (आकांशा, इंदिरा निकेतन और स्वाति) और तीन वृद्धाश्रम हॉस्टल (संध्या, आराधना और आशीर्वाद ) में भोजन की सुचारू आपूर्ति और अन्य आवश्यक वस्तुओं एवम सेवाओं की आपूर्ति भी सुचारू रूप से चल रही हैं । इन सभी में भारत सरकार द्वारा जारी स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के सख्त प्रवर्तन और सामाजिक दूरी के सुरक्षा मानदंडों को भी लागू किया जा रहा है। पालिका परिषद ने अपने एक और कल्याणकारी निर्णय के अनुसार इन संस्थानों में रहने वालों ( कामकाजी गर्ल्स हॉस्टल और वृद्धाश्रम में ) को 31 मई तक हॉस्टल फीस के भुगतान की तारीख बढ़ाकर एक और राहत भी प्रदान की गई है। पालिका परिषद के स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन सभी संस्थानों जैसे बारात घर, सामुदायिक केंद्रों, छात्रावासों और वृद्धाश्रमों को नियमित आधार पर साफ, स्वच्छ और सैनिटाइज किया जा रहा है।

कोविड-19 महामारी आपदा प्रबंधन के दौरान आवश्यक सेवाओं के रूप में पर्याप्त सेवाएं प्रदान करने के लिए परिषद कल्याण विभाग के सभी कर्मचारियों को अलर्ट पर रखा गया है।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *