झाबुआ के अजीत सिंह ने मचाई फिल्मी दुनिया में धूम

झाबुआ के अजीत सिंह राठौर की अनेकों फिल्में रिलीज़ है चुकी हैं और अवार्ड्स भी ले चुकीं हैं। वर्ष 2018 में अजीत की फिल्मों को चार एवार्ड मिले और वर्ष 2019 में उनकी पहली फिल्म *चौरस फिरंगी* मध्यप्रदेश- छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के पी.वी.आर. मल्टी प्लेक्स (टॉकीज़) में दिखाई जा रही है।अजीत सिंह ने इस फिल्म के बेकग्राउंड साऊंड कम्पोज़र हैं।इस फिल्म की शूटिंग, एडिटिंग, गाने हर सीन संपूर्ण कार्य जबलपुर में ही पूरा किया दिनांक 5 अप्रैल को यह फिल्म वहां के इरा समदरिया एवं मूवी मैजिक मल्टीप्लेक्स में दिखाई जिसे दर्शकों द्वारा बहुत पसंथ किया गया।
*फिल्म चौसर फिरंगी* का मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ के 71 मल्टीप्लेक्स सिनेमा में शो होगा।जिसमें म.प्र. में इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, सतना, सागर, सीधी, कटनी, रीवा, होशंगाबाद, रतलाम, धार, झाबुआ, उज्जैन, देवास, हरदा, पन्ना छतरपुर, खुरई आदि शहरों तथा छत्तीसगढ़ में बिलासपुर , रायपुर, भिलाई, दुर्ग आदि स्थानों के सिनेमा में इस फिल्म को दिखाया जायेगा। ज्ञात हो कि वर्ष 2018 में अजीत की टीम द्वारा बनाई गई फिल्मों को सर्वप्रथम *वेब फिल्म फेस्टिवल* में एवार्ड प्राप्त हुआ। इसके बाद निरंतर तीन फिल्मों को एवार्ड्स मिले जिसमें *गुजराती फिल्म* *बे यार* को *गुजरात* के *मुख्यमंत्री विजय रूपाणी* ने एवार्ड दिया। फिल्म *अश्वत्थामा* को *बुसान फिल्म फेस्टिवल कोरिया* से *एवार्ड* हुआ। 2018 का चौथा एवार्ड *मामी फिल्म फेस्टिवल का गोल्ड ज्यूरी एवार्ड मेहसमपुर फिल्म को मिला* अजीत सिंह ने मुम्बई जैसी प्रतिस्पर्धात्मक फिल्म नगरी में अत्यधिक कठिन परिश्रम कर ये मुकाम हासिल किया।उन्होंने बी. कॉम के बाद फिल्म एवं टेलीविजन इंस्टीट्यूट में प्रथम बार में प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण कर वहां प्रवेश लिया और पुणें से वर्ष 2006 में साऊंड इंजीनियर की डिग्री उच्चतम् अंको से प्राप्त कर अपनी पहली साऊंड डिप्लोमा फिल्म क्रमशः के लिये मात्र 24 वर्ष की उम्र में उन्होंने सबसे पहला *इंटरनेशनल एवार्ड सन् 2007 में वेनिस फिल्म फेस्टिवल* में अर्जित कर राष्ट्र, प्रदेश एवं जिले को गौरवान्वित किया।
वर्ष 2009 में 55 वें फिल्म फेस्टिवल में *फिल्म क्रमशः* के लिये पुनः अजीत को हमारे देश की *राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल द्वारा रजत कमल एवार्ड* से नवाजा़ गया। उसके पश्चात वर्ष 2010 से 2018 तक *नैनसुख,* गुजराती फिल्म *केवी रीते जाईशे* *ऑटो हेड*, वर्ष 2018में *वेब फिल्म*, एक और गुजराती फिल्म *”बे यार”* के लिये *मुख्य मंत्री विजय रूपाणी से एवार्ड प्राप्त किया।* फिल्म *अश्वत्थामा* को *बुसान फिल्म फेस्टिवल* कोरिया से एवार्ड से नवाजा गया, *फिल्म मेहसमपुर* को *मामी फिल्म फेस्टिवल में गोल्ड ज्यूरी एवार्ड* हासिल किया, इस प्रकार अनेक फिल्मों में एवार्ड प्राप्त कर मुम्बई जैसै महानगर में अपना स्थान बनाया।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *