नये आॅनलाइन पोर्टल से और अधिक पारदर्शी हो जायेगी गैस वितरण व्यवस्था ः धर्मेन्द्र प्रधान

संवाद्दाता
दिल्ली। उपभोक्ताओं को गेल (गैस अथॉरिटी आॅफ इण्डिया लिमिटेड) के गैस वितरण एंव आपूर्ति व्यवस्था से गैस वितरण की सहज, प्रभावी, पारदर्शी, खुली सुविधा सुनिश्चित कराने के उदेश्य से राजधानी दिल्ली में पेटोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास एंव उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान द्वारा एक आॅनलाइन पोर्टल जारी किया गया। इस अवसर पर कैन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि यह अपनी तरह का पहला पोर्टल है जो देश में पारदर्शी तथा बाजारोन्मुख गैस व्यवसाय प्रणाली का रास्ता खोलेगा। श्री प्रधान ने कहा कि विगत चार वर्षों के दौरान नीतिगत सुधारों के चलते देश ने गैस उत्पादन में कई गुना वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार स्वच्छ ईंधन के प्रयोग पर जोर दे रही है, इसके लिए गैस की आपूर्ति करने वाले देशों से नये सिरे से गैस आयात अनुबंध किये जा रहे हैं। जैव सीएनजी को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द पीएनजी की आपूर्ति भी नये क्षेत्रों में ‘ाुरु कर दी जायेगी। श्री प्रधान ने स्पष्ट किया कि गैस की कीमतों में काफी उतार-चढ़ाव होता रहता है, इसलिए गैस की खरीद-फरोख्त तथा विक्रय हेतु एक प्रभावी पारदर्शी प्रणाली जरूरी है। श्री प्रधान ने कहा कि लॉच किया गया नया आॅनलाइन पोर्टल गैस सप्लाई के क्षेत्र में व्यवसाय के लिए प्रवेश करने वाले लोगों को कम लागत पर प्रभावी तरीके से गैस की आपूर्ति हेतु गेल के मौजूदा वितरण ढॉचे का इस्तेमाल करने में मदद करेगा । श्री प्रधान ने कहा कि यह नया पोर्टल डिजिटल माध्यम से गैस के व्यवसाय को विस्तार देने में ऐतिहासिक भूमिका अदा करेगा। इस पोर्टल के माध्यम से उपभोक्ताओं को गैस वितरण पाइपलाइन की क्षमता के हिसाब से गैस वितरण-पारेषण की बुकिंंग आॅनलाइन करने की सुविधा प्रदान की जा रही है। यह सेवा पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर काम करेगी।
इस अवसर पर गेल के अध्यक्ष सह-प्रबंध निदेशक बीसी त्रिपाठी ने कहा कि गेल ने अपनी गैस वितरण पाइपलाइनों तक तीसरे पक्ष की पहुॅच की सुविधा 2004 से ही प्रदान की जा रही है। श्री त्रिपाठी ने बताया कि विगत पॉच वर्षों के दौरान 100 से भी ज्यादा उपभोक्ताओं को नियमित तौर पर यह सुविधा दी जा रही है। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिकारी डीके श्रॉफ तथा गेल के अनेक अधिकारीगण मौजूद रहे।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *