निगम के होने वाले चुनावों के लिए सभी मोर्चों को कमर कस लेनी चाहिए—–आदेश गुप्ता

दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि आनिगम के होने वाले चुनावों के लिए प्रदेश के सभी मोर्चों को कमर कस लेनी चाहिए।ने वाले नए साल में निगम के होने वाले चुनावों के लिए प्रदेश के सभी मोर्चों को कमर कस लेनी चाहिए। यदि भाजपा कार्यकर्ता मोदी सरकार की योजनाओं के साथ-साथ निगमों द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी ‘घर-घर दस्तक’ देकर पहुंचा दे तो दिल्ली को जीतने से हमें कोई नहीं रोक सकता है। आज प्रदेश मोर्चों की एकदिवसीय संयुक्त कार्यकारिणी बैठक के उद्घाटन सभा को संबोधित करते हुए श्री गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री की आवास योजना, आयुष्मान योजना, गरीब खाद्यान योजना, वन नेशन वन राशन कार्ड, ऐसी कई योजनाएं हैं जिसे दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लागू ही नहीं किया। पांच लाख का स्वास्थ्य बीमा और आवास आज गरीब तबके की सबसे बड़ी जरुरत है लेकिन केजरीवाल सरकार की नाकामी और बेरुखी के कारण लाखों लोगह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की योजनाओं का लाभ लेने से वंचित है।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि अभी हम अमृत महोत्सव मना रहे हैं और कल हमने देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी की जन्म जयंती को सुशासन दिवस के रुप में मनाया। सही मायनों में सुशासन को परिभारिष करने का काम किसी ने किया था तो वह अटल बिहारी बाजपेयी थे। उन्होंने कई ऐसी योजनाओं की नींव रखी जिसके बारे में कांग्रेस सरकार सिर्फ बातें करती थी लेकिन जमीनी स्तर पर कोई काम नहीं किया लेकिन अटल बिहारी बाजपेयी ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी स्वर्णिम चतुर्भुज राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना के साथ अलावा कई सारी योजनाओं की शुरुआत की और आज हमें एक गर्व है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी उनके बताए रास्ते पर चलते हुए अटल बिहारी बाजपेयी के साथ-साथ भारत के सपनों को पूरा करने का काम कर रहे हैं।

आज प्रदेश मोर्चों की संयुक्त एकदिवसीय कार्यकारिणी बैठक में मुख्य रुप से भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री एवं प्रदेश सह प्रभारी डॉ. अलका गुर्जर, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सिद्धार्थन, नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी, कार्यक्रम के संयोजक एवं प्रदेश भाजपा महामंत्री श्री हर्ष मल्होत्रा, प्रदेश महामंत्री श्री दिनेश प्रताप सिंह एवं श्री कुलजीत सिंह चहल, प्रदेश कोषाध्यक्ष श्री विष्णु मित्तल, प्रदेश मीडिया प्रमुख श्री नवीन कुमार जिंदल, प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्षा श्रीमती योगिता सिंह, युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री वासु रुखड़, प्रदेश पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष श्री कौशल मिश्रा, प्रदेश अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र गोठवाल, प्रदेश ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष श्री संतोष पाल, प्रदेश अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष मोहम्मद कारी हारुन सहित मोर्चों के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि एक तरफ केंद्र की मोदी सरकार ने पूरे देश को कोरोना काल में सहायता करने के साथ-साथ मुफ्त राशन, मुफ्त वैक्सीन, मुफ्त कोरोना जांच सहित कई योजनाएं लाकर समाज के हर वर्ग को लाभांवित करने का काम किया है लेकिन ठीक इसके उलट दिल्ली की केजरीवावल सरकार ने दिल्ली को बर्बाद करने के अलावा कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण, पानी, बिजली, यातायात साधन, जल बोर्ड को बर्बाद करने के साथ-साथ नई आबकारी नीति के तहत कई हज़ार करोड़ रुपये का घोटाला करने वाले अरविंद केजरीवाल दूसरे राज्यों में जाकर चुनावी रैली कर झूठे वायदें कर रहे हैं लेकिन दिल्ली की जनता को उनके हाल पर ही छोड़ दिया है। इसका हिसाब आगामी चुनाव में दिल्ली की जनता उन्हें देने वाली है।  

श्री गुप्ता ने कहा कि साल 2013 से 2019 तक लगातार यमुना सफाई की बात करने और उसे टेम्स नदी बनाने का झूठा वादा करने वाले केजरीवाल सरकार की नाकामियों के कारण 32 गंदें नालियों का पानी और औद्योगिक कारखानों का कचरा यमुना में जाता है और यमुना प्रदूषित होती जा रही है। इसके लिए 1400 करोड़ रुपये का बजट सरकार ने तय किया था लेकिन अभी यमुना की स्थिति पहले से बदतर है।

राष्ट्रीय मंत्री एवं प्रदेश भाजपा की सह-प्रभारी डॉ. अलका गुर्जर ने कहा कि हमें आगामी चुनाव की तैयारियां अभी से ही शुरु कर देनी चाहिए और हर बार की तरह इस बार भी चुनाव में मोर्चों की अहम भूमिका होने वाली है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने जिस तरह से कोरोना काल में अपनी कुशल नेतृत्व से एक बड़ी महामारी को परास्त करने का काम किया, उसे पूरी दुनिया ने देखा। कोरोना काल में अगर किसी राज्य में सबसे ज्यादा केंद्र सरकार ने काम किया है तो वह दिल्ली है लेकिन केजरीवाल सरकार की नाकामी और दूसरों के ऊपर अपनी कमियों को आरोपित करने का रवैया से दिल्लीवालों को काफी नुकसान उठाना पड़ा।

डॉ. अलका गुर्जर ने कहा कि जिस तरह से चुनावी पर्यटन में व्यस्त केजरीवाल दूसरे राज्यों में जाकर झूठे वायदें कर रहे हैं उसे अब जनता समझ चुकी है। पंजाब में एक हज़ार रुपये का ऐलान करने वाले केजरीवाल दिल्ली में 1000 रुपये के हिसाब से सात सालों का हिसाब दें। उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता ने केजरीवाल को सत्ता की कुर्सी पर इसलिए बैठाया था  ताकि वे दिल्ली में विकास कर सके लेकिन केजरीवाल अपनी राजनीति विस्तार में सभी वायदे भूल चुके हैं।

नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केजरीवाल सरकार को घोटालों और निष्क्रियता की सरकार बताते हुए आरोप लगाया कि जनता को कोरोना काल में जब सरकार से ज्यादा उम्मीदें थी तब सरकार जनता को राम भरोसे छोड़ कर गायब हो गई थी। यही नहीं इस समय नई आबकारी नीति के खिलाफ पूरा दिल्ली है लेकिन केजरीवाल सरकार ने मास्टर प्लान और निगम के नियमों को ताख पर रखते हुए शराब की नई दुकानें खोलने में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के निकम्मेपन, लापरवाही, झूठ, भ्रष्ट और ओछी राजनीति के कारण आज केंद्र की मोदी सरकार की कई जनकल्याणकारी नीतियों से दिल्लीवाले दूर हैं।

श्री बिधूड़ी ने कहा कि दूसरे राज्यों में जाकर बेरोजगारी भत्ता और पेंशन की बात करने वाले केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। बुजुर्गों की पेंशन बढ़ने की बजाय कम हो रही है। पहले 4 लाख 65 हजार लोगों को पेंशन दी जा रही थी, अब यह संख्या 4 लाख 49 हजार है और उन्हें भी समय पर पेंशन नहीं मिल पा रही। पिछले 3 सालों में जिन गरीब वरिष्ठ नागरिकों ने पेंशन के लिए आवेदन किया है, उनकी पेंशन आज तक शुरू नहीं की गई। उन्होंने कहा कि दिल्ली की सड़कें अपनी बदहाली पर आंसू बहाती नजर आती हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि जब से आम आदमी पार्टी की सरकार आई है, दिल्ली में एक भी फ्लाई ओवर का प्रोजेक्ट नहीं बना।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *