आत्मनिर्भर बजट भारत के भविष्य के निर्माण का बजट है-धर्मेंद्र प्रधान

भारत का युवा समर्पण से काम करने के लिए जाना जाता है
नई दिल्ली, 12 फरवरी। केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि आत्मनिर्भर बजट में जिस तरह से युवाओं के कौशल विकास पर जोर दिया गया है, उससे एक नए और आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करने में मदद मिलेगी। इसमें आधारभूत ढांचे को बढ़ाने पर जोर दिया गया है। किसी भी देश में जब भी इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया जाता है तो तेजी से बढ़ता है। भारत का युवा अपने काम करने के समर्पण और इच्छाशक्ति के लिए जाना जाता है। दिल्ली भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा आत्मनिर्भर बजट पर परिचर्चा के लिए आयोजित युवा सम्मेलन में उन्होंने कहा कि यह आत्मनिर्भर बजट भारत के भविष्य के निर्माण का बजट है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता की अध्यक्षता में हुए इस कार्यक्रम के दौरान प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल, मीडिया प्रमुख नवीन कुमार उपस्थित थे। कार्यक्रम में प्रदेश युवा मोर्चा के अध्यक्ष वासु रुखड़ ने मंच का संचालन किया। इस अवसर पर भाजयुमो के राष्ट्रीय प्रवक्ता रोहित चहल, प्रदेश प्रवक्ता यासिर जिलानी, आदित्य झा और खेमचंद शर्मा सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। 

केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि स्कील इंडिया के तहत विज्ञान और तकनीक को आगे बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि इसके लिए 50,000 करोड़ रुपये के बजट का आवंटन किया गया है। उन्होंने विज्ञान और इंजीनियरिंग की पढ़ाई भारतीय भाषाओं में किए जाने समर्थन किया। उन्होंने कहा कि हजारों साल पहले बने मंदिरों में जिस तरह की निर्माण तकनीक का इस्तेमाल किया गया, वह आज भी अनूठी है। तकनीक के जानकार कारीगर भारतीय भाषाओं में प्रशिक्षित थे।

उन्होंने युवाओं को सलाह दी, कि इस आत्मनिर्भर बजट के बारे में हमें आस-पास के लोगों को बताना चाहिए। इसका एक व्यापक प्रभाव देश के सभी वर्गों के ऊपर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि कोविड काल में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जहां की जगह जान बचाने को तवज्जों दी और आज हमारा देश काफी तेजी से कोविड फ्री भारत बनने की तरफ अग्रसर है। 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली के इंफ्रांस्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए 7,700 करोड़ रुपये का बजट दिल्ली विकास प्राधिकरण को आवंटित किया गया है जिससे युवाओं को रोजगार मिल सकेगा। इसके अलावा मेट्रो फेज-4 परियोजना के चालू होने की बात हो, तीसरे रिंग रोड की बात हो या फिर सिवरेज सिस्टम को दुरुस्त करने की बात हो, इन सब से सिर्फ दिल्ली में ही युवाओं के लिए रोजगार उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा विश्व का सबसे बड़ा ईको पार्क दिल्ली के बदरपुर में 885 एकड़ जमीन पर बनया जा रहा है और द्वारका के अंदर भारत वंदन पार्क बनाने के लिए 300 करोड़ रुपये की मंजूरी केंद्र सरकार द्वारा दी गई है। यही नहीं अन्नपूर्णा योजना के तहत कोरोना काल में दिल्ली के लगभग 75 लाख परिवार को मुफ्त राशन देने का भी काम नरेन्द्र मोदी सरकार ने किया है। यह आत्मनिर्भर बजट युवाओं के लिए एक अवसर लेकर आया है। आदेश गुप्ता ने कहा कररहित बजट पेश करने के लिए प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री की सराहना करते हुए कहा कि विपक्ष के पास भी इस आत्मनिर्भर बजट के खिलाफ कहने को कुछ नहीं है।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *