उत्तराखंड भूमि से लेखक प्रेरणा शर्मा की कविता

त्रिकोण आकार है उसका
आसपास है हरियाली
कण कण से की है सजावट
नदिया झील है उसकी किलकारी
रंग बिरंगे फूलों की बेला उसमें
भंवरों की गुनगुनआहट है
चार धाम की यात्रा उससे
ऐसी उसकी निशानी है
वीरों की जन्मभूमि कहते उसको
इसी बात से इतराती है
सबको अपने रंग में मोहने वाली
वह उत्तराखंड भूमि कहलाती है

लेखक प्रेरणा शर्मा

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *