नेपाली फार्म से टोल प्लाजा हटाए जाने का धीरेंद्र प्रताप ने किया स्वागत

दिल्ली । उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने नेपाली फार्म से टोल प्लाजा हटाए जाने के सरकारी फैसले का स्वागत किया है ।उन्होंने इसे कांग्रेस की जीत बताते हुए कहा है कि इसके लिए कांग्रेसी नेताओं के द्वारा किए गए संघर्ष का परिणाम है।
धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि पहले दिन से ही कांग्रेस के शीर्ष नेता शूरवीर सिंह सजवान जयेंद्र रमोला राजेपाल खरोला महंत विनय सारस्वत समेत तमाम नेता इस टोल प्लाजा के विरुद्ध सड़कों पर उतर आए थे, और उसके बाद स्वयं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह महामंत्री संगठन विजय सारस्वत समेत तमाम नेता वहां पर जाकर धरना और सत्याग्रह पर बैठे, तब जाकर कहीं सरकार की चेतना जगी है। उन्होंने टोल प्लाजा को हटाए जाने को कांग्रेस के संघर्ष की जीत बताते हुए कहा है कि यह कांग्रेस के ही प्रयास थे जो आज लूट मचा देने वाली भाजपा सरकार को जनता के खून चूसने वाले इस कदम को वापस लेना पड़ा है ।
धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि कल से श्री प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने राज्य भर के लोगों को बिना किसी आयु का भेदभाव किए मुफ्त वैक्सीनेशन किए जाने का जो अभियान शुरू किया है जल्दी इसमें भी कांग्रेस की जीत होगी और राज्य की जनता को भाजपा सरकार को मुफ्त वैक्सीनेशन करने को मजबूर होना पड़ेगा। उन्होंने राज्य की जनता से आवाहन किया है कि वे भाजपा की भ्रष्ट और निकम्मी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए सड़कों पर आए।
इससे पूर्व उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक द्वारा श्री प्रीतम सिंह के नेतृत्व में राज्य भर में “भाजपा हटाओ उत्तराखंड बचाओ” अभियान को नौटंकी बताए जाने की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि विपक्षी दल का यह कर्तव्य है, कि वह जन आकांक्षाओं की हत्या करने वाली सरकार का विरोध करें और श्री प्रीतम सिंह और कांग्रेस के साथी यही कार्य कर रहे हैं। इसमें कोई गुनाह नहीं कर रहे हैं, .
उन्होंने मदन कौशिक को भाजपा का नकली मुखौटा बताते हुए कहा कि उन्हें उत्तराखंड में कोई नहीं जानता ।सिवाय हरिद्वार के उनकी कोई सेवाओं का इतिहास नहीं है, इसलिए उनके मुंह से कांग्रेस के विरुद्ध कुछ कहा जाना “थोथा चना बाजे घना” से ज्यादा कुछ नहीं लगता।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *