मुख्यमंत्री ने बगस्याड़ में रखी नागरिक अस्पताल की आधारशिला

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मण्डी जिला के सिराज विधानसभा क्षेत्र के बगस्याड़ में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 का बजट प्रस्तुत करते हुए आम जनता को सुशासन प्रदान करने और सेवाओं में सुधार लाने पर विशेष ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण कृषि व बागवानी क्षेत्र में बदलाव, रोजगार सृजन सुनिश्चित बनाना, कानून व्यवस्था की बहाली, आवासहीनों को आवास सुविधा उपलब्ध करवाना, नशीले पदार्थों, वन तथा खनन माफिया पर नकेल कसना, गुणात्त्मक शिक्षा प्रदान करना और लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाना बजट की मुख्य विशेषताएं हैं। इसके अतिरिक्त महिला सशक्तिकरण, विभिन्न प्रक्रियाओं का सरलीकरण कर जल विद्युत,पर्यटन व व्यापार क्षेत्र में निवेश को बढ़ाना भी बजट का लक्ष्य है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने मनरेगा के अंतर्गत रोजगार दिवसों को 100 से बढ़ाकर 120 करने का प्रावधान किया है। दिहाड़ीदारों की दिहाड़ी को बढ़ाकर 225 रुपये, जल वाहकों के मानदेय को 1700 रुपये से 2100 रुपये प्रतिमाह किया गया है। इसके अतिरिक्त आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी 1750 रुपये अतिरिक्त मानदेय उपलब्ध करवाया जाएगा। बजट में आशा वर्करों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को भी एक हजार रुपये से बढ़ाकर 1250 रुपये किया गया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार स्थानीय लोगों, गैर सरकारी संगठनों, पंचायतों, मंदिर न्यासों तथा चेरिटेबल संस्थाओं को वर्तमान गौ सदनों के सुदृढ़ीकरण व नये गौ सदन खोलने के लिए प्रोत्साहित करेगी। हिमाचल प्रदेश धार्मिक संस्थान एवं मंदिर न्यास अधिनियम में संशोधन कर चढ़ावे का 15 प्रतिशत गौसदनों के निर्माण, रख-रखाव तथा परिचालन पर व्यय किया जाएगा। इसके अतिरिक्त शराब पर प्रति बोतल एक रुपया गौवंश विकास सेस के रूप में दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने भी व्यक्तिगत तौर पर इस बजट की सराहना की है,जिसमें समाज के सभी वर्गों तथा सभी क्षेत्रों को शामिल किया गया है।

उन्होंने सिराज विधानसभा क्षेत्र (तत्कालीन चिच्योट) का प्रतिनिधित्व करने वाले पूर्व मंत्री कर्ण सिंह को याद करते हुए कहा कि उन्होंने वित्त मंत्री के रूप में बजट पेश किया था। अब वह सिराज क्षेत्र से दूसरे व्यक्ति बन गए हैं, जिन्हें बजट पेश करने का सौभाग्य मिला है जो समूचे क्षेत्र के लिए गौरव की बात है।

 जयराम ठाकुर ने कहा कि कुछ मित्र जंजैहली में एसडीएम कार्यालय के नाम पर अशांति फैलाने का प्रयास कर रहे हैं, जिससे वह आहत हैं। इन लोगां को यह समझना चाहिए कि एसडीएम कार्यालय को न्यायालय के आदेश पर थुनाग बदला गया है न कि प्रदेश सरकार के कहने पर। उन्होंने विश्वास जताया कि शीघ्र ही उन्हें अपनी गलती का अहसास होगा और वे राजनीति से ऊपर उठकर पूरे सिराज के विकास के लिए इक्ट्ठा होकर कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि उनके लिए जंजैहली व थुनाग एक समान हैं और दोनों क्षेत्रों के लोग उनके परिवार के सदस्य हैं।

उन्होंने इस निर्णय का विरोध कर रहे लोगां से मामले को आपसी सहमति से सुलझाने के लिए आमंत्रित किया। बातचीत के लिए सरकार तथा उनके दरवाजे हमेशा खुले हैं। उन्होंने दोहराया कि जंजैहली के लोग उनके परिवार के सदस्य के समान हैं और उन्हें ऐसे लोगों द्वारा बहकाया जा रहा है, जिनका कुछ भी नुकसान नहीं होगा।

मुख्यमंत्री ने बगस्याड़ में 27 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले नागरिक अस्पताल की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों के आवासों के लिए अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता है। उन्होंने भूमि शीघ्र चिन्हित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने 3.46 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली बगस्याड से टिक्कर सड़क का भी भूमि पूजन किया।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *