भाजपा की एक दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारणी दिल्ली में संपन्न

भारतीय जनता पार्टी के एक दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृहमंत्री अमित शाह भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पीयूष गोयल ने फूल माला पहनाकर भव्य स्वागत किया

विश्व के सर्वाधिक लोकप्रिय जन-नेता एवं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की अध्यक्षता में आज रविवार को नई दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में भाजपा की एक दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। कार्यकारिणी की बैठक में सभी 36 प्रदेशों से भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, सभी प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं संबंधित प्रदेशों से राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य वर्चुअली इस बैठक से जुड़े। बैठक में भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय रक्षा मंन्त्री राजनाथ सिंह , पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह , पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री एवं राज्य सभा में सदन के नेता पीयूष गोयल सहित सभी वरिष्ठ पार्टी नेता और पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य उपस्थित थे। पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी एवं मुरली मनोहर जोशी भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक से वर्चुअली जुड़े।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की शुरुआत करते हुए अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने देश को मजबूत, सशक्त और निर्णायक नेतृत्व देने के लिए लिए यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का हादिक अभिनंदन किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सदैव ही हम सबका मार्गदर्शन किया है, पार्टी कार्यकर्ता के रूप में उन्होंने हमेशा अपना संपूर्ण योगदान दिया है।

श्री नड्डा ने कहा कि हम सब सौभाग्यशाली हैं कि हम उस भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हैं जिसे डॉ श्यामा प्रसाद मुखर् और पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अपनी त्याग, तपस्या और बलिदान से सींचा है। हम भाग्यशाली हैं कि हम उस भाजपा के कार्यकर्ता हैं जिसका नेतृत्व श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, श्रद्धेय कुशाभाऊ ठाकरे , राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और अमित भाई शाह ने नेतृत्व किया है और जिनके नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी, विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनी और देश के कोने-कोने में भाजपा का विचार पहुंचा। हम सौभाग्यशाली हैं कि हमें दुनिया के सबसे बड़े लोकप्रिय जन नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नेतृत्व मिला जिसके कारण आज न केवल दुनिया में भारत के मान-सम्मान में काफी वृद्धि हुई है बल्कि भारतीय जनता पार्टी भी नई ऊँचाइयों को छू रही है। उनके नेतृत्व में जन-जन का उत्थान एवं देश के गाँव, गरीब, किसान, दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित, पिछड़े, आदिवासी, युवा एवं महिलाओं का सशक्तिकरण हो रहा है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी के संकट के दौरान जिस तरह हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री ने आगे बढ़ कर 130 करोड़ देशवासियों को साथ लेते हुए नेतृत्व किया और इस संकट पर विजय प्राप्त करने हेतु पूरी दुनिया को राह दिखाई, उसकी जितनी भी सराहना की जाय, कम है। मैं कोरोना संकट के समय निर्णायक नेतृत्व एवं मार्गदर्शन के लिए भारतीय जनता पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सभी सदस्यों की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हार्दिक धन्यवाद देता हूँ एवं उनका अभिनंदन करता हूँ।

श्री नड्डा ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में शुरुआत में दुनिया के तमाम बड़े-बड़े देशों की स्वास्थ्य व्यवस्थाएं लड़खड़ा गई थी लेकिन इस विषम परिस्थिति में जिस दूरदृष्टि के साथ प्रधानमंत्री ने न केवल साहसिक निर्णय लेते हुए लॉकडाउन लगा कर देशवासियों की सुरक्षा की और देशवासियों को तैयार किया बल्कि गरीब कल्याण योजना, गरीब कल्याण अन्न योजना और आत्मनिर्भर भारत से से जन-जन की चिंता की।

यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ देश की निर्णायक लड़ाई पर विस्तार से चर्चा करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जब कोरोना ने देश में दस्तक दी तो हमारे पास इससे लड़ने की कोई व्यवस्था नहीं थी लेकिन लॉकडाउन के तीन महीने में ही हम N95 मास्क, पीपीई किट्स, सेनिटाइजर्स और टेस्टिंग में आत्मनिर्भर बने। इतना ही नहीं, हमने वेंटीलेटर्स और ऑक्सीजन बेड्स में भी आत्मनिर्भरता हासिल की। शुरुआत में हमारे पास केवल एक टेस्टिंग लैब्स था, आज 2500 से अधिक टेस्टिंग लैब्स हैं। शुरू में हमारे पास केवल 1500 टेस्टिंग प्रतिदिन की क्षमता थी, आज 20 लाख से अधिक हमारी टेस्टिंग कैपेसिटी है। आज 15,000 से अधिक डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल्स, लगभग 78 हजार आईसीयू बेड्स और लगभग 14 लाख आइसोलेशन बेड्स मौजूद है। ट्रैक, टेस्ट एवं ट्रीट के विजन के साथ जिस तरह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों की रक्षा की है, इसके लिये मैं उन्हें हृदय की गहराइयों से साधुवाद देता हूँ।

श्री नड्डा ने कहा कि कोरोना संकटकाल में गरीबों और प्रवासी मजदूरों की चिंता करते हुए हमारे प्रधानमंत्री ने प्रण लिया कि देश में कोई भूखा नहीं रहेगा। इस लक्ष्य के साथ देश के 80 करोड़ लोगों के लिए उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े खाद्य राहत अभियान ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का शुभारंभ किया। पिछले वर्ष भी अप्रैल से लेकर नवंबर तक और इस वर्ष भी मार्च से लेकर नवंबर तक गरीब कल्याण अन्न योजना से देश के 80 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने भी भारत के प्रयासों की जम कर सराहना की।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत अभियान से देश के अर्थचक्र को गतिशील किया गया, एमएसएमई के लिए तीन लाख करोड़ रुपये का आवंटन किया जिसमें से 2.5 लाख करोड़ रुपये के कोलेटरल फ्री लोन वितरित हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एमएसएमई की परिभाषा बदलते हुए इस सेक्टर के कल्याण के लिए कई कदम उठाये। एक लाख करोड़ रुपये के फंड से एग्रीकल्चरल इन्फ्रास्ट्रक्चर की योजना तैयार की गई है। लगभग 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को राहत देने के लिए 5,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। जब कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन का विषय आया, तब जहां विपक्ष मिथ्या आरोपों की राजनीति कर रहा था, लोगों को गुमराह कर अराजकता फैलाने में लगा हुआ था, वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री देशवासियों की सुरक्षा में लगे हुए थे। केवल एक सप्ताह में ही 10 गुना ऑक्सीजन उत्पादन बढ़ा और जल-थल-नभ से हर जगह ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई।

दुनिया के सबसे बड़ी और सबसे तेज गति से चलने वाले वैक्सीनेशन अभियान की चर्चा करते हुए नड्डा ने कहा कि हमने केवल 278 दिनों में 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार किया है। देश में अब 108 करोड़ से अधिक वैक्सीनेशन हो चुका है। पर हमें यहाँ यह भी ध्यान देने की जरूरत है कि वैक्सीनेशन में देश की पहले की तस्वीर क्या थी और आज हम कहाँ तक पहुंचे हैं। पहले हम सोच ही नहीं पाते थे कि हम किसी बीमारी की कोई वैक्सीन बना भी सकते हैं। चिकन पॉक्स का टीका आने में देश में 10 वर्ष लग गए थे, बीसी वैक्सीन आने में 25 वर्ष से अधिक का समय लग गया था, हैपिटाइटिस बी और टिटनेस का टीका आने में भी वर्षों लग गए थे। पर जब देश में कोरोना ने दस्तक दी तो 16 अप्रैल 2020 को ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वैक्सीन पर टाक्स फ़ोर्स का गठन किया और 9 महीने से भी कम समय में देश में एक नहीं दो-दो विश्वस्तरीय ‘मेड इन इंडिया’ वैक्सीन बन कर तैयार हुई और 16 जनवरी 2021 से देश में वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हुई। ये है बदलता भारत, यह है प्रधानमंत्री की दूरदृष्टि और भारत के ‘स्व’ को जागृत करने का तरीका। प्रधानमंत्री ने स्वयं पिछले साल तीन वैक्सीन फैसिलिटी का निरीक्षण किया और उनकी प्रेरणा से हम विश्वस्तरीय वैक्सीन बनाने में कामयाब हुए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरा देश एकजुट होकर जहां कोविड को परास्त करने की लड़ाई लड़ रहा था, वहीं विपक्ष वैक्सीन और वैक्सीनेशन पर देश एवं देशवासियों को गुमराह कर निकृष्ट राजनीति करने में लगा था। पहले तो विपक्ष द्वारा वैक्सीन के ट्रायल्स पर सवाल उठाये गए, फिर देशवासियों को लैब रैट्स और गिनी पिग्स, न जाने क्या-क्या कहा गया। कोविड वैक्सीन को मोदी वैक्सीन और बीजेपी वैक्सीन कहा गया। मैं विपक्ष को कहना चाहता हूँ कि आप जितनी भी राजनीति करो लेकिन देश के इतिहास में दर्ज होगा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों से देश में स्वदेशी वैक्सीन का निर्माण हुआ और मुफ्त में देश की इतनी बड़ी आबादी को वैक्सीन मिली। हमने केवल 278 दिनों में 100 करोड़ टीकाकरण और पांच बार, एक दिन में हमने एक करोड़ से अधिक का वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार किया। यह सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। प्रधानमंत्री के जन्मदिन के दिन 17 सितंबर को देश ने एक दिन में ढाई करोड़ वैक्सीनेशन के आंकड़े को पार दुनिया के वैक्सीनेशन कार्यक्रम में एक नया आयाम जोड़ा। हम अमेरिका से दोगुना, जापान से पांच गुना, जर्मनी से लगभग 9 गुना और फ्रांस का लगभग 10 गुना कोविड वैक्सीनेशन कर चुके हैं। दुनिया के सबसे बड़े और सबसे तेज गति से चलने वाले कोविड वैक्सीनेशन अभियान के लिए मैं अपनी ओर से और पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की ओर से यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद करता हूँ। अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने निर्णय लिया है कि ‘अब हर घर दस्तक’ के माध्यम से हम घर-घर जायेंगे और वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करेंगे। भारतीय जनता पार्टी के 10 लाख हेल्थ वालंटियर्स इसमें सहयोग करेंगे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ‘सेवा ही संगठन’ अभियान की विशेष चर्चा की। उन्होंने कहा कि इस दौरान विपक्ष जहां आइसोलेशन में चला गया था, वह केवल सोशल मीडिया और टीवी पर ही दिखाई देते थे जबकि भारतीय जनता पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं ने अपनी जान की परवाह किये बगैर मानवता की सेवा की अद्भुत मिसाल पेश की। कोविड संक्रमण के दौरान भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने 22 करोड़ फ़ूड पैकेट्स, लगभग 5.31 करोड़ राशन किट्स और 7 करोड़ फेस मास्क वितरित किये। इसके अतिरिक्त लाखों हजारों ब्लड डोनेशन कैम्प्स आयोजित किये गए और हजारों हेल्पलाइन सेंटर्स के माध्यम से जन-जन की मदद की गई। लगभग 20 लाख प्रिवेंशन किट्स का वितरण किया गया। पार्टी के लाखों कार्यकर्ता बुजुर्गों की देखभाल में भी लगे।

श्री नड्डा ने कहा कि किसी भी लोकतंत्र में लोकप्रियता का एक पैमाना चुनावों में राजनीतिक दल का प्रदर्शन भी होता है। कोविड संक्रमण के दौरान कई राज्यों के विधान सभा चुनाव और उप-चुनाव हुए। भाजपा ने इसमें शानदार प्रदर्शन किया। बिहार विधान सभा चुनाव में भाजपा ने सबसे अच्छे स्ट्राइक रेट के साथ 74 सीटों पर त दर्ज की और पूर्ण बहुमत के साथ वहां एनडीए की सरकार बनी। इसके साथ ही देश के 11 राज्यों में 58 सीटों पर विधान सभा उपचुनाव भी हुए थे, जिसमें भाजपा ने 40 सीटों पर शानदार विजय प्राप्त की। इसके अतिरिक्त लद्दाख हिल काउंसिल, ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कारपोरेशन चुनाव, असम के स्थानीय निकाय चुनाव, गोवा के स्थानीय निकाय चुनाव, गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव, अरुणाचल प्रदेश स्थानीय निकाय चुनाव, जम्मू-कश्मीर में बीडीसी और डीडीसी के चुनाव, उत्तर प्रदेश के स्थानीय निकाय चुनाव – सब मेन भारतीय जनता पार्टी ने भारी त दर्ज की। जम्मू-कश्मीर के डीडीसी चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी, तेलंगाना में पहले हुए दुब्बका सीट पर विधान सभा उप-चुनाव और अब हुजूराबाद की सीट पर हुए उप-चुनावों में भी ऐतिहासिक त दर्ज की। इसके बाद पांच राज्यों में विधान सभा चुनाव हुए। असम में हमने पूर्ण बहुमत के साथ पुनः चुनाव ता। पुदुच्चेरी में पहली बार भारतीय जनता पार्टी गठबंधन की सरकार बनी और आजादी के बाद पहली बार भाजपा से पुदुच्चेरी से चुन कर राज्य सभा पहुंचे। पश्चिम बंगाल में अमित भाई शाह के अथक परिश्रम से हम तीन साल में 3 से 77 तक पहुंचे और भाजपा मुख्य विपक्षी पार्टी बनी। तमिलनाडु में भी भाजपा ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। हाल ही में हुए उप-चुनावों में भी भाजपा ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। असम की सभी पांच सींटें भाजपा और एनडीए ने तीं हैं तो बिहार की दोनों सीटों पर हमारा गठबंधन विजयी हुआ है। तेलंगाना की एकमात्र सीट पर हमने भारी त दर्ज की तो मध्य प्रदेश में तीन में से दो सीट और लोक सभा की एक सीट पर भी हम विजयी हुए। एलानाबाद, हरियाणा की सीट पर हमें पिछली बार से अधिक वोट प्राप्त हुए।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी को अपने वैचारिक अधिष्ठान की स्थापना में भी उत्कृष्ट सफलता मिली है। श्रद्धेय डॉ श्यामा प्रसाद मुखर् ने नारा दिया था कि एक देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधान नहीं चलेगा, नहीं चलेगा। उनका और देश के जन-जन का यह लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व एवं दृढ़ इच्छाशक्ति और गृह मंत्री अमित शाह की रणनीति के बल पर जम्मू-कश्मीर से धारा 370 धाराशायी हुआ और वहां भी देश के बाकी हिस्से की तरह सभी कानून लागू हुए। अब वहां भी दलित, आदिवासी एवं पिछड़े वर्ग के लोगों को सभी अधिकार मिले हैं। उनके लिए विधानसभा के दरवाजे खुले हैं, पॉक्सो लागू हुआ। जम्मू-कश्मीर में शांति, समृद्धि और विकास नरेन्द्र मोदी सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है। आज जम्मू-कश्मीर उनके नेतृत्व में विकास के पथ पर तीव्र गति से अग्रसर हुआ है।

श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मुस्लिम महिलाओं को ट्रिपल तलाक से आजादी दिलाकर सम्मान के साथ ने का अधिकार दिया है। सिटिजन एमेंडमेंट एक्ट भी लागू किया गया। अफगानिस्तान के संकट को देखते हुए हम समझ सकते हैं कि यह कानून कितना महत्वपूर्ण सिद्ध हो सकता है। 23 वर्ष से ब्रू-रियांग समझौता लटका हुआ था। प्रधानमंत्री की दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति और गृह मंत्री के क्रियान्वयन के बल पर यह समझौता शांतिपूर्ण संपन्न हुआ। इसी तरह 50 वर्षों से जारी बोडो आंदोलन का भी शांतिपूर्ण समझौता से समाधान हुआ। पुनर्वास के लिए मोदी सरकार की ओर से 1500 करोड़ रुपये की शुरुआती मदद दी गई और असम में शांति के एक नए अध्याय की शुरुआत हुई।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कहने को तो कई किसान नेता हुए लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले 7 सालों में कृषि एवं किसान कल्याण के लिए जो कार्य किये, उतने कार्य आजादी के 70 सालों में भी किसी ने नहीं किये। 2014 से पहले कृषि बजट केवल 23,000 करोड़ रुपये का था जो कि आज बढ़ कर 1,23,000 करोड़ रुपये का हो गया है। किसान सम्मान निधि के तहत बिना किसी बिचौलिए के सीधे लगभग 10 करोड़ किसानों के एकाउंट में अब तक 1.55 लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि दी जा चुकी है। फसल बीमा योजना से देश के करोड़ों किसान लाभान्वित हुए हैं। इस बार रिकॉर्ड मात्रा में एमएसपी पर फसलों की खरीद हुई है। 2016-17 में जहां केवल 35,000 करोड़ रुपये की खरीदी हुई थी और इससे लगभग 20 लाख किसानों को लाभ पहुंचा था, वहीं इस बार लगभग 85,000 करोड़ रुपये की फसल खरीदी एमएसपी पर हुई है और इससे लगभग 39 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं। लगभग 22 करोड़ किसानों को अब तक स्वायल हेल्थ कार्ड मिल चुका है। क्या आज से पहले किसी ने सोचा भी था कि किसानों को पेंशन मिल सकती है लेकिन हमारे प्रधानमंत्री ने किसान मानधन योजना के जरिये उनके लिए भी पेंशन की व्यवस्था की। साथ ही, ब्लू रिवोल्यूशन, पशुपालन विकास और नीमकोटेड यूरिया आदि योजना भी किसानों के लिए बहुत बड़ी संबल साबित हुई है।

श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के सभी वर्गों के सर्वांगीण विकास के लिए कार्य किया है। अनुसूचित वर्ग को समाज की मुख्यधारा में शामिल करने का उन्होंने महती कार्य किया जबकि अब तक बाकी दलों ने उनका इस्तेमाल केवल वोट बैंक के लिए ही किया था। किसी ने उनके सशक्तिकरण का बीड़ा नहीं उठाया था। सच्चे अर्थों में यदि किसी ने भारत रत्न बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को दुनिया भर में स्थापित करने का काम किया है तो वे हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं। हमारे प्रधानमंत्री ने पंचतीर्थ का विकास कर बाबासाहब को जन-जन तक पहुंचाया है। एससी वर्ग के छात्रों की छात्रवृत्ति को काफी बढ़ाया गया है। अनुसूचित जनजाति वर्ग के कल्याण के लिए वन-धन योजना, वन बंधु कल्याण योजना, शिक्षा के लिए एकलव्य मॉडल स्कूल, सस्टेनेबल ग्रोथ के कार्यक्रम, स्वच्छ पीने का पानी आदि योजनायें शुरू की गई हैं, जिसके शानदार परिणाम अब मिलने शुरू हो गए हैं। सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों के लिए भी 10% आरक्षण की वयवस्था की गई है जिससे हर गरीब को आगे बढ़ने का अवसर मिल रहा है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि युवाओं के लिए स्टार्ट-अप, स्टैंड-अप और स्किल डेवलपमेंट योजना शुरू की गई है। उनके क्वालिटी एजुकेशन की व्यवस्था हुई है। नेशनल एजुकेशन पॉलिसी से देश की मिट्टी की सुगंध से सुवासित शिक्षा कार्यक्रम की शुरुआत पहली बार देश में हुई है। हर बार राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर विवाद होता था लेकिन इस बार की राष्ट्रीय शिक्षा नीति को सबने एकमत से स्वीकार किया। अब छात्रों को उनकी अपनी मातृभाषा में उच्च शिक्षा भी मिल सकेगी। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, सुकन्या समृद्धि योजना, मातृ वंदन योजना, स्वच्छ भारत योजना, उज्ज्वला योजना, मुद्रा योजना, सेल्फ हेल्प ग्रुप्स इत्यादि के माध्यम से महिला सशक्तिकरण का अनुकरणीय कार्य हो रहा है। उज्ज्वला योजना से देश की लगभग 9 करोड़ गरीब महिलाओं को लकड़ी के धुंए से मुक्ति मिली है।

सिख समाज के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किये गए कार्यों की भरपूर सराहना करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिख भाइयों के हित में जितने कार्य किये, उतने किसी ने नहीं किये। विपक्ष का काम केवल सिख भाइयों को गुमराह करना रह गया है। हरमंदिर साहिब को फॉरेन कंट्रीब्यूशन लेने का पहले कोई प्रावधान नहीं था लेकिन प्रधानमंत्री की प्रेरणा से एफसीआरए रजिस्ट्रेशन ग्रांट हुआ और अब हरमंदिर साहिब को विदेशी योगदान मिलना शुरू हो गया है। यह कार्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समय में हुआ जबकि कई सिख भाई भी शासन में आये थे लेकिन ये कार्य न हो सका। पहले लंगर पर भी टैक्स लगता था, इसे टैक्स फ्री करने का काम हमारे प्रधानमंत्री ने किया है। आजादी से लेकर 70 सालों तक डेरा नानक साहब और करतारपुर साहिब का दर्शन करने का अवसर हमारे सिख भाइयों को नहीं मिल पाया था, यह रास्ता अब तक नहीं मिल पाया था लेकिन प्रधानमंत्री की प्रेरणा से 120 करोड़ रुपये की निधि से यह कॉरिडोर बन कर तैयार हुआ और सिख भाइयों को डेरा नानक साहब और करतारपुर साहिब का दर्शन करने का मार्ग प्रशस्त हुआ। गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व को धूमधाम के साथ पूरे देश में मनाया गया। इसके लिए नरेन्द्र मोदी सरकार ने 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की। साथ ही, रेलवे ने भी 40 करोड़ रुपये की अलग से व्यवस्था कर इसमें अपना योगदान दिया। गुजरात के जामनगर में प्रधानमंत्री ने 750 बेड का एक अस्पताल सिख भाइयों को समर्पित किया। 1984 से ब्लैकलिस्ट में से कई लोगों के नाम हटाये जाने की मांग सिख भाइयों की थी लेकिन आज तक यह कार्य न हुआ। प्रधानमंत्री की दृढ़ इच्छाशक्ति से ब्लैकलिस्ट से 314 नाम हटाये जा चुके हैं, अब उसमें केवल दो नाम रह गए हैं। हमारे सिख भाइयों के आंसू बह-बह के सूख गए लेकिन कांग्रेस की सरकारें 1984 के दंगों के दोषियों को सजा नहीं दिलवा पाई। हमारे प्रधानमंत्री ने एसआईटी बनाई और दोषियों को सलाखों के पीछे डालने का कार्य किया। ये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं जिन्होंने जालियांवाला बाग मेमोरियल का रिनोवेशन करवाया और इसे एक नए रूप में देश को समर्पित किया।

श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में डिफेंस सेक्टर में आमूल-चूल परिवर्तन आया है। वर्षों से लंबित ओआरओपी को हमारी सरकार ने लागू किया। डिफेंस सेक्टर में भारत ते से आत्मनिर्भरता की ओर आगे बढ़ रहा है। राफेल, सर्फेस टू एयर मिसाइल, फाइटर प्लेन्स, टैंक्स – सबमें भारत ने तीव्र प्रगति की है। 7 नई डिफेंस कंपनियां बनाई गई हैं। प्रधानमंत्री ने अटल टनल राष्ट्र को समर्पित किया जिससे एक दिन की दूरी अब केवल लगभग 45 मिनटों में पूरी हो जायेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनी है चाहे पब्लिक सेक्टर्स के बैंकों को जनोपयोगी बनाना हो या पॉलिसी रिफॉर्म्स की नीति हो। आतंकवाद पर बात हो, पर्यावरण संतुलन पर बात हो, कोविड पर एजेंडा सेट करना हो या हाल ही में हुए G-20 और कॉप 26 की बैठकें, आज प्रधानमंत्री की बात हर जगह गंभीरता से सुनी जाती है और उनकी सलाह मानी जाती है। प्रधानमंत्री , आपने जिस तरह ग्लासगो में कॉप 26 की बैठक में दुनिया को दृष्टि और दिशा दिखाई, उसकी जितनी सराहना की जाय, कम है। आपके नेतृत्व में भारत आपके संकल्पों पर पूर्ण रूप से खरा उतरेगा।

बंगाल चुनाव पर चर्चा करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव के बाद जिस तरह से राज्य सरकार के संरक्षण में हिंसा का तांडव मचाया गया, महिलाओं के साथ अनाचार किया गया, आगजनी की गई और निर्दोष नागरिकों की हत्या की गई, वह निंदनीय है, भर्त्सनीय है। मैं पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के माध्यम से यह स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि हम चुप बैठने वाले नहीं हैं, हम प्रजातांत्रिक रूप से पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए निर्णायक लड़ाई लड़ेंगे और कमल खिलाएंगे। पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद लगभग 142 विधान सभाओं में हिंसा की घटनाएं हुई, 53 लोगों की निर्मम हत्या हुई, 7000 से अधिक केस रजिस्टर्ड किये गए, 123 सेक्सुअल एसॉल्ट की घटनाएं हुई और लगभग 90 हजार लोगों को घर छोड़ने के लिए विवश होना पड़ा। भाजपा 93 होम सेल्टर्स चला रही है। इन घटनाओं की कोई अन्य पार्टी चर्चा नहीं कर रही लेकिन भाजपा के कार्यकर्ता दिन-रात अपने कार्यकर्ताओं के कल्याण में जुटे हुए हैं। मैं पश्चिम बंगाल के लोगों को विश्वास दिलाता हूँ कि हम पार्टी कार्यकर्ताओं के सहयोग से उनके लिए, उनके विकास के लिए और राज्य में शांति के लिए काम करते रहेंगे।

श्री नड्डा ने कहा कि हम अब तक जहां भी सत्ता में नहीं आ पाए हैं, वहां सरकार बनाने के लिए पूरा प्रयत्न करेंगे। आंध्र प्रदेश, ओड़िशा, तेलंगाना, केरल, पश्चिम बंगाल में सरकार बनाने के लिए हम कृतसंकल्पित हैं। तेलंगाना में हाल में हुए दोनों विधान सभा सीटों पर भाजपा ने जिस तरह कमल खिलाया है, उससे यह निश्चित है कि आने वाले विधान सभा चुनाव में हम तेलंगाना में सरकार बनाने जा रहे हैं। केरल में जिस तरह तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है, वह भर्त्सनीय है। वहां हमें भाजपा को और सशक्त और मजबूत बनाना है। तमिलनाडु में भाजपा को सफलता मिलनी शुरू हो गई है। महाराष्ट्र में जिस तरह से महाअघाड़ी सरकार महावासूली और भ्रष्टाचार में लिप्त है, उसे उखाड़ फेंकते हुए हमें महाराष्ट्र की जनता को निजात दिलानी है। राजस्थान में आये दिन महिलाओं के साथ अनाचार की घटनाएं हो रही हैं, दलितों पर अत्याचार हो रहा है लेकिन वहां की कांग्रेस सरकार कानों में रुई डाले बैठी है। हम वहां भी लोगों के कल्याण के लिए, उनके अधिकार की रक्षा के लिए प्रजातांत्रिक लड़ाई लड़ रहे हैं और लड़ते रहेंगे। हम राजस्थान में भी सरकार बनाने के लिए कटिबद्ध हैं। झारखंड और छत्तीसगढ़ में सांप्रदायिक तनाव, नक्सलवाद और भ्रष्टाचार चरम पर है। हमें इन राज्यों में सरकार की नाकामी को मुद्दा बनाते हुए भाजपा की सरकार बनायेंगे।

मैं पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए करना चाहता हूँ कि हमें हर घर दस्तक कार्यक्रम को सफल बनाना है। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए खुशी की बात है कि 8 लाख बूथ पर बूथ कमिटी की रचना का काम पूरा हो गया है। बाकी जो भी कुछ बूथ बच गए हैं, वहां भी जल्द से जल्द बूथ कमिटियाँ बनाने का काम पूरा हो जाएगा। बूथों पर पर बूथ कमिटी द्वारा पार्टी कार्यकर्ताओं एवं बूथ के विशिष्ट जनों के साथ प्रधानमंत्री के लोकप्रिय कार्यक्रम ‘मन की बात’ सुनने का कार्यक्रम सराहनीय है। मैं सभी बूथ कमिटियों से आग्रह करना चाहूंगा कि वे अपने-अपने बूथों पर नियमित रूप से ‘मन की बात’ कार्यक्रम को बूथ के लोगों के साथ सुनने का आयोजन करें और इसे जन-जन का कार्यक्रम बनाएं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी प्रगति के पथ पर गतिशील होते हुए सफलता के नए अध्याय लिखने के लिए तत्पर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत विश्वगुरु के पद पर प्रतिष्ठित होगा।

Share This Post:-
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *